मंत्री बन्ना गुप्ता के स्वागत में घंटों जाम रहा जमशेदपुर, कई एंबुलेंस फंसी, मरीज की मौत से इंकार

मंत्री बन्ना गुप्ता के स्वागत में घंटों जाम रहा जमशेदपुर, कई एंबुलेंस फंसी, मरीज की मौत से इंकार
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Feb 03, 2020

झारखंड सरकार में स्वास्थ्य मंत्री बनने के बाद बन्ना गुप्ता पहली बार रविवार को अपने विधानसभा क्षेत्र जमशेदपुर पहुंचे. उनके स्वागत के लिए उमड़ी भीड़ से जमशेदपुर का मानगो चौक पूरी तरह जाम हो गया.

इसमें कई एंबुलेंस भी फंस गयी थी. इसी दौरान वहां फंसी एंबुलेंस में एक मरीज की मौत की खबर आई. रात में मंत्री ने प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि एंबुलेंस में शव को ले जाया जा रहा था. मंत्री के साथ एंबुलेंस का चालक खालीद भी मौजूद थे. 

प्रेस कांफ्रेस में चालक खालीद भी अपने पहले के बयान से पूरी तरह मुकर गए. उन्होंने कहा कि उसने कहा कि एंबुलेंस में वह शव लेकर जा रहा था. हालांकि इस विवाद को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं और इसके जद में स्वास्थ्य मंत्री भी हैं. 

खालीद का यह भी कहना है कि मीडिया वाले के कहने पर उसने कहा था कि जाम में फंस जाने की वजह से मरीज की मौत हो गई. जाम में जाने का रास्ता मिल जाए इसलिए लोगों से एंबुलेंस में मरीज होने की बात कही. जबकि एंबुलेंस में शव था. 

हालांकि जो वीडियो सोशल साइट पर वायरल हो रहा है उसमें एबुलेंस का चालक काफी गुस्से में बोलते हुए सुनाई पड़ रहे हैं. वो टीवी पत्रकार से कह रहे हैं कि जाम में फंसने की वजह से मरीज मर गया.

इसे भी पढ़ें: धनबादः अवैध कोयला खनन के दौरान हादसा, एक की मौत

एंबुलेंस का चालक खालिद से बातचीत एक स्थानीय टीवी चैनल के पत्रकार ने की थी. 

जाम में फंसे कई स्थानीय लोग भी बेहद नाराज थे. वे कह रहे थे कि पब्लिक के वोट से मंत्री बने और पूरे शहर को बंधक बना लिए. यह अधिकार किसी नेता मंत्री को किसने दिया. 

इधर रात में मंत्री ने प्रेस कांफ्रेस कर इसे छवि खराब करने का प्रयास बताया. बन्ना गुप्ता ने प्रेस कांफ्रेस से जुड़े एक वीडियो अपने फेसबुक वाल पर अपलोड किया है.

मंत्री का कहना है, ''कोई पत्रकार बीजेपी का पक्षधर बनकर सरकार को बदनाम करेगा, तो मानहानि का मामला दर्ज किया जाएगा. यह कानूनी मामला है. बन्ना गुप्ता का कहना है कि जाम में पत्रकार ही एंबुलेंस चालक को समझा रहा है कि बोलो मरीज पड़ा है. फिर पंद्रह मिनट बाद बोल रहा है कि बोलो कि मरीज मर गया''.

Publicbol (यही एबुंलेंस जाम में फंसी थी और चालक खालिद गुस्से में बता रहे कि मरीज की मौत हो गई)

बयान से मुकरा, बताया बिरसानगर का शव था

एंबुलेंस के चालक ने एक कागज भी अपने साथ ले रखा था. उन्होंने बताया कि इसमें देखा जा सकता है कि वो डेड बॉडी लेकर जा रहा था. फिर मंत्री ने कागज पढ़कर बताया कि मृतक का नाम बिरबल दास था, जो छोटा गोविंदपुर, बिरसानगर थाना क्षेत्र के रहने वाले थे. 

बन्ना गुप्ता कहते हैं, मुझे दुख है कि पत्रकारिता के नाम को  कलंकित कर रहा है, जबकि पत्रकारिता लोकतंत्र का चौथा स्तभ हैं.  

कैसे तूल पकड़ा मामला 

इससे पहले शाम में बन्ना गुप्ता के जमशेदपुर पहुंचने पर स्वागत में मानगो-डिमना रोड पूरी तरह जाम हो गया. जाम में फंसे लोगों का गुस्सा भी सामने आया. इस दौरान शहर की ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई.  और सैकड़ों वाहन जहां के तहां फंसे रहे. 

ऐसी परिस्थिति बन गई कि एंबुलेंस चालक भी भीड़ से वाहन को बाहर नहीं निकाल पाए. इसी दौरान एंबुलेंस के चालक ने मीडिया को बयान दिया कि वह लोगों से रास्ता मांगता रहा गया, लेकिन लोगों ने रास्ता नहीं दिया और एंबुलेंस में ही मरीज की मौत हो गई. वीडियो में चालक को काफी गुस्सा में बोलते सुना जा सकता है. 

इसे भी पढ़ें: रांचीः सिपाही ने पत्नी समेत दो बच्चों की हत्या कर खुद जान देने की कोशिश की

इधर जब यह खबर तूल पकड़ने लगी, तो देर शाम बन्ना गुप्ता ने प्रेस कांफ्रेंस कर उक्त चालक को मीडिया के सामने लाए. इसमें चालक मो खालिद अपने पहले के बयान से पूरी तरह मुकर गया. 

उसने कहा कि एंबुलेंस में वह शव लेकर जा रहा था. मरीज की मौत एक दिन पहले ही हो गयी थी. जाम में जाने का रास्ता मिल जाये, इसलिए लोगों से एंबुलेंस में मरीज होने की झूठी बात कही और मीडिया को भी गलत बयान दिया.


 
लड्डू से तौला गया 
 
बन्ना गुप्ता रविवार की शाम शहर पहुंचेंगे, यह पहले से तय था. मंत्री के स्वागत में अलग-अलग संगठनों के साथ ही कांग्रेस के कार्यकर्ता और समर्थक सड़कों पर फूल माला लेकर उमड़ पड़े. इस दौरान ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए पुलिस की ओर से कोई अतिरिक्त व्यवस्था नहीं की गई थी. 

शहर पहुंचने के बाद बन्ना गुप्ता का उनके समर्थकों ने खुले दिल से स्वागत किया. कहीं उन्हें लड्डू से तौला गया, तो कहीं उनके आगमन को लेकर आतिशबाजी हुई. उनके स्वागत के लिए खास तौर पर रामगढ़ से बैंड बाजा को बुलाया गया था. इस बैंड पर लोग थिरक रहे थे.

उठते सवाल 

एंबुलेंस चालक खालिद भीड़ में टीवी चैनल के पत्रकार से गुस्से में कह रहा है कि जाम में फंस जाने की वजह से मरीज की मौत हो गई. टीवी चैनल पर उसका बयान चलता रहा. मरीजों के लिए एंबुलेंस में शव कैसे ले जाया जा रहा था. एंबुलेंस में जब शव ही रखा था, तो खालिद गुस्से में झूठ क्यों कहते रहे. 

बीजेपी ने साधा निशाना 

भाजपा ने जमशेदपुर में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के स्वागत कार्यक्रम में जाम के दौरान एंबुलेंस के फंसने और कथित तौर पर मरीज की मौत पर सरकार को आड़े हाथ लिया है. साथ ही पूरी घटना के लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को जिम्मेवार ठहराया है और पद से हटाने की मांग की है.

भाजपा प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने आरोप लगाया है कि स्वास्थ्य मंत्री के स्वागत में जमशेदपुर शहर को शाहीनबाग की तरह बंधक बना कर रखा गया. 

स्वास्थ्य मंत्री के समर्थकों ने लगभग चार घंटे तक पूरे जमशेदपुर शहर की यातायात व्यवस्था को ठप रखा. पांच एंबुलेंस जाम में फंसे रही. इस दौरान मरीज की इलाज के अभाव में मौत हो गयी.  
 
प्रवक्ता ने कहा कि यह घटना तब हुई जब एंबुलेंस का ड्राइवर मंत्री के समर्थकों से जाने देने की मिन्नत करता रहा. और उसी समय स्वास्थ्य मंत्री सड़क पर लड्डुओं से तौले जा रहे थे. 

 

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा

Stay Connected

Facebook Google twitter