विपक्ष की रट, जम्मू-कश्मीर में हालात ठीक नहीं, राज्यपाल ने कहा, फोन पर पाबंदी से जिंदगियां बचीं

विपक्ष की रट, जम्मू-कश्मीर में हालात ठीक नहीं, राज्यपाल ने कहा, फोन पर पाबंदी से जिंदगियां बचीं
Facebook
पीबी ब्यूरो ,   Aug 25, 2019

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को राज्य में दवाओं और आवश्यक वस्तुओं की किसी कमी से इनकार करते हुए कहा कि संचार माध्यमों पर पाबंदियों की वजह से वहां बहुत सी जिंदगियां बचीं. 

उन्होंने कहा, “हमारा रवैया था कि इंसानी जान नहीं जानी चाहिए। 10 दिन टेलीफोन नहीं होंगे, नहीं होंगे, लेकिन हम बहुत जल्द सब वापस कर देंगे. जम्मू कश्मीर में कहीं भी दवाओं और आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं है और लोगों की खरीद के लिए पर्याप्त उपलब्धता है. 

मलिक ने यह भी कहा कि जम्मू कश्मीर को अनुच्छेद 370 के तहत दिए गए विशेष दर्जे को खत्म करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के बाद राज्य में हिंसा में किसी शख्स की जान नहीं गई है.  

पत्रकारों ने जब उनसे पूछा कि राज्य में प्रतिबंध कब तक जारी रहेंगे, उन्होंने कहा, “अगर संचार माध्यमों पर अंकुश लगाने से जिंदगी बचाने में मदद मिलती है तो इसमें क्या नुकसान है?”मलिक ने कहा कि पूर्व में जब कश्मीर में संकट होता था, तो पहले ही हफ्ते में कम से कम 50 लोगों की मौत हो जाती थी.

मलिक ने कहा कि जम्मू कश्मीर में कहीं भी दवाओं और आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं है और लोगों की खरीद के लिए पर्याप्त उपलब्धता है। 

इसे भी पढ़ें: स्पेन में चमकी जमशेदपुर की तीरंदाज कोमोलिका, युवा विश्व चैंपियन बनी

उन्होंने कहा, “वास्तव में, ईद में हमने लोगों के घरों पर मीट, सब्जियों और अंडों की आपूर्ति की.” राज्यपाल पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में थे. जेटली का शनिवार को यहां एम्स में निधन हो गया था. जेटली को याद करते हुए मलिक ने कहा कि वह जेटली ही थे जिन्होंने पिछले साल जम्मू कश्मीर के राज्यपाल की जिम्मेदारी लेने के लिए उन पर जोर डाला था. 

उन्होंने कहा, “अरुण जेटली ने मुझे सलाह दी थी कि मैं राज्यपाल की जिम्मेदारी लूं. उन्होंने मुझसे कहा कि यह ऐतिहासिक होगा. उन्होंने मुझसे यह भी कहा कि उनकी ससुराल के लोग जम्मू से हैं.” 

उधर हैदराबाद में पार्टी की एक बैठक में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के महासचिव डी राजा ने अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त करने के राजग सरकार के कदम को ‘‘असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक’’ बताते हुए कहा कि कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हैं.

राजा शनिवार को दिल्ली से श्रीनगर गए विपक्षी दलों के उस 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे जो जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद घाटी के हालात का जायजा लेना चाहता था. हालांकि, प्रशासन ने शनिवार को विपक्षी नेताओं को श्रीनगर हवाईअड्डे से बाहर निकलने नहीं दिया. 

भाकपा नेता ने कहा है, कश्मीर में वहां टेलीफोन नहीं चल रहा है. सरकार कह रही है कि लैंडलाइन चल रहे हैं लेकिन नहीं, हमने कोशिश की थी. न इंटरनेट चल रहा है और न ही टेलीफोन काम कर रहे हैं.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘स्कूल और कॉलेज खुले हैं लेकिन कोई भी छात्र नहीं आ रहा है. माता-पिता अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार नहीं हैं. लोग अस्पताल नहीं जा पा रहे हैं। कश्मीर में कर्फ्यू है. अगर सबकुछ सामान्य है तो इसे क्यों जारी रहना चाहिये.’’ 

गौरतलब है कि शनिवार को श्रीनगर से लौटाए जाने के बाद राहुल गांधी ने भी कहा था कि जम्मू-कश्मीर में हालात ठीक नहीं हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान

Stay Connected

Facebook Google twitter