हजारीबागः कोविड वार्ड में भर्ती मरीज भूख हड़ताल पर, मुकम्मल इलाज नहीं और बदइंतजामी का आरोप

हजारीबागः कोविड वार्ड में भर्ती मरीज भूख हड़ताल पर, मुकम्मल इलाज नहीं और बदइंतजामी का आरोप
पीबी ब्यूरो ,   Jul 23, 2020

झारखंड के हजारीबाग मेडिकल कॉलेज स्थित कोविड वार्ड में भर्ती मरीज आज भूख हड़ताल पर चले गए हैं.

कोविड वार्ड में कथित तौर पर व्याप्त अव्यवस्था और मुकम्मल इलाज नहीं किए जाने के आरोप में मरीजों ने सुबह का नाश्ता खाने से इनकार कर दिया. 

मरीजों का कहना है कि जब तक हालत नहीं सुधरती, वे खाना नहीं खाएंगे. वे अस्पताल के अधिकारियों के खिलाफ सीधी कार्रवाई की मांग पर अड़े हैं. 

कई मरीज अस्पताल के कोरीडोर में निकल आए हैं. वे प्रंबधन और जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे हैं. इस बीच अधिकारियों ने बातचीत के जरिए मरीजों को समझा लिया है. 

जिला प्रशासन और अस्पताल के कई अधिकारी कोविड वार्ड पहुंचे हैं. कोविड वार्ड में 57 मरीज भर्ती हैं. 

इसे भी पढ़ें: जेएमएम का आरोप, निशिकांत दुबे की एमबीए की डिग्री फर्जी, सांसद बोले, झूठा प्रपंच

एचएमसीएच के अधीक्षक डॉ संजय कुमार सिन्हा का कहना है कि अस्पताल में सुविधाएं बहाल है. और उपचार भी नियम प्रावधान के तहत किया जा रहा है.

मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है. इसलिए सफाई की समस्या हो सकती है. इसके बाद भी तीन बार साफ- सफाई कराया जा रहा है. 

उन्होंने कहा कि उपचार सही हो रहा है, तभी तो दो सौ मरीज ठीक होकर घरों को लौट गए हैं.

मरीजों की कोई परेशानी है, तो उनसे बातचीत की जाएगी. 

इधर मरीजों के विरोध प्रदर्शन के समर्थन में कांग्रेस ओबीसी के एक नेता भी अधिकारियों और डॉक्टरों के खिलाफ मुखर हो गए हैं. उनका इलाज भी कोविड वार्ड में चल रहा है. 

उन्होंने बयान जारी कर आरोप लगाया है कि मरीजों का सही उपचार के बदले परेशान किया जा रहा है. कई मरीज बीस दिनों से भर्ती हैं, लेकिन रिपोर्ट के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं दी जा रही है. 

आरोप यह भी है कई ऐसे मरीज हैं जिन्हें कोरोना नहीं होने के बावजूद भी कोविड-वार्ड में भर्ती कर दिया जाता है.

उस मरीज की जब जांच रिपोर्ट निगेटिव आती है, तो आनन-फानन में उसे जनरल वार्ड में शिफ्ट किया जाता है.

कई मौके पर गंभीर रूप से  बीमार मरीज को भी ऑक्सीजन कम पड़ने पर खुद से सिलेंडर उठाकर लाना और ले जाना पड़ता है  

मरीजों का आरोप है कि सरकार के गाइडलाइन के अनुरूप भोजन भी नहीं दिया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: चतरा सीओ पर आरोपः लाखोंं की उगाही कराई, काम नहीं किए,परेशान युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी

वार्ड में साफ सफाई पर ध्यान नदीं दिया जाता है. रात में मरीज अंधेरे में शौचालय का उपयोग करने को बाध्य हैं. एक बल्ब की भी व्यवस्था नहीं की जाती. वार्ड में लावारिस कुत्ते भी घुस जाते हैं.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter