गुप्तेश्वर पांडेयः 22 सितंबर को नौकरी से वीआरएस, 26 को नीतीश से मुलाकात, 27 को जदयू का दामन थामा

गुप्तेश्वर पांडेयः 22 सितंबर को नौकरी से वीआरएस, 26 को नीतीश से मुलाकात, 27 को जदयू का दामन थामा
पीबी ब्यूरो ,   Sep 27, 2020

बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भारतीय पुलिस सेवा की नौकरी से वीआरएस लेने के बाद सुर्खियों में आए पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने आज जदयू का दामन थामा.

इसके साथ ही कयासों का दौर तेज हो गया है कि नीतीश कुमार गुप्तेश्वर पांडेय को चुनाव भी लड़ा सकते हैं. 

सीएम आवास पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुप्तेश्वर पांडेय को पार्टी की सदस्यता दिलाई. बिहार में अगले महीने 28 अक्तूबर से विधानसभा चुनाव शुरू होंगे. वहां तीन चरणों में चुनाव है. जबकि नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. 

जदयू का दामन थामने के बाद गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा, ''वे राजनीति बहुत नहीं समझते हैं. मुझे खुद मुख्यमंत्री ने बुलाया था और शामिल होने के लिए कहा. मैं एक साधारण व्यक्ति हूं, जिसने अपना समय समाज के निम्न वर्ग के लिए काम करने में बिताया है''

उन्होंने यह भी कहा, आगे मेरे दल के नेताओं का जो आदेश होगा उसके हिसाब से काम करूंगा. मैं दल का अनुशासित सिपाही हूं. चुनाव लड़ना या नहीं लड़ना, ये मेरा फैसला नहीं हो सकता. 

इसे भी पढ़ें: क्या विधायक प्रदीप यादव की धार खत्म कर रही है कांग्रेस?

गुप्तेश्वर पांडेय ने मंगलवार, 22 सितंबर की देर शाम वीआरएस ले लिया था.

1987 बैच के आईपीएस अधिकारी गुप्तेश्वर पांडेय का कार्यकाल 28 फरवरी 2021 को पूरा होने वाला था.

इससे पहले और चुनाव के बिल्कुल करीब उन्होंने वीआरएस लिया. 

शनिवार,26 सितंबर को पटना स्थित जदयू मुख्यालय में मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से मुलाकात की थी. 

शनिवार की दोपहर करीब दस मिनट तक वे जदयू कार्यालय में रहे. नीतीश कुमार से मुलाकात कर लौटते समय उन्होंने पत्रकारों से संक्षिप्त बातचीत में कहा कि यह एक शिष्टाचार मुलाकात थी. हालांकि पूर्व डीजीपी ने नीतीश कुमार के सुशासन की जमकर तारीफ जरूर की थी. 

इस दौरान उनका कहना था, ''अभी वह किसी भी दल में शामिल नहीं हो रहे हैं. मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद देने आया था. डीजीपी के पद पर रहते हुए उन्होंने मुझे खुलकर काम करने का मौका दिया, जिसके लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं. उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने के बारे में कोई फैसला नहीं लिया है''. 

वीआरएस लेने के बाद गुप्तेश्वर पांडे फेसबुक लाइव पर भी आए थे. इसके जरिए उन्होंने अपनी पढ़ाई, पुलिस सेवा, जीवन के संघर्ष और बिहार से लगाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी थी. 

वीआरएस लेने के बाद उन्होंने कहा था कि अपने लोगो से रायशुमारी करके ही कोई निर्णय लेंगे. तब उन्होंने कहा था,"मैं जिन लोगों से मैं जुड़ा हूँ, लाखों लोगों से, उनसे बात करने के बाद मैं तय करुँगा कि वे मेरी सेवा किस रूप में चाहते हैं. "

उन्होंने साथ ही कहा,"सोसायटी में काम करने का तरीका केवल राजनीति ज्वाइन करना नहीं है, बिना राजनीति ज्वाइन किए हुए भी समाज में सेवा की जा सकती है."


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

सीएए हर हाल में लागू होगाः जेपी नड्डा
सीएए हर हाल में लागू होगाः जेपी नड्डा
मुसलमान के लिए हिंदुस्तान से अच्छा कोई देश नही और हिंदू से अच्छा कोई दोस्त नहीं: शाहनवाज हुसैन
मुसलमान के लिए हिंदुस्तान से अच्छा कोई देश नही और हिंदू से अच्छा कोई दोस्त नहीं: शाहनवाज हुसैन
मुसलमान के लिए हिंदुस्तान से अच्छा कोई देश नही और हिंदू से अच्छा कोई दोस्त नहीं: शाहनवाज हुसैन
मुसलमान के लिए हिंदुस्तान से अच्छा कोई देश नही और हिंदू से अच्छा कोई दोस्त नहीं: शाहनवाज हुसैन
बीजेपी का नया चुनावी दांवः लालू राज की डिक्शनरी में क से क्राइम, ख से खतरा और ग से गोली...
बीजेपी का नया चुनावी दांवः लालू राज की डिक्शनरी में क से क्राइम, ख से खतरा और ग से गोली...
 देवघरः 18 साइबर अपराधी गिरफ्तार, 43 मोबाइल फोन, 54 सिम कार्ड, 32 पासबुक बरामद
देवघरः 18 साइबर अपराधी गिरफ्तार, 43 मोबाइल फोन, 54 सिम कार्ड, 32 पासबुक बरामद
 केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का तेजस्वी पर तंज, 'नौवीं फेल नेता चला बिहार बदलने'
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का तेजस्वी पर तंज, 'नौवीं फेल नेता चला बिहार बदलने'
दबावों के बावजूद न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन वी रमण
दबावों के बावजूद न्यायाधीशों को निडर होकर लेने चाहिए निर्णय: न्यायमूर्ति एन वी रमण
 शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की हालत नाजुक, मेडिका पहुंचे हेमंत, कहा, चेन्नई से आ रहे डॉक्टर
शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की हालत नाजुक, मेडिका पहुंचे हेमंत, कहा, चेन्नई से आ रहे डॉक्टर
बिहार के आईजी विनोद कुमार की कोरोना से मौत, पटना एम्स में ली अंतिम सांस
बिहार के आईजी विनोद कुमार की कोरोना से मौत, पटना एम्स में ली अंतिम सांस
बिहार में बीजेपी अधिक सीटों पर चुनाव जीतकर आएगी, तब भी नीतीश कुमार ही सीएम होंगेः अमित शाह
बिहार में बीजेपी अधिक सीटों पर चुनाव जीतकर आएगी, तब भी नीतीश कुमार ही सीएम होंगेः अमित शाह

Stay Connected

Facebook Google twitter