गढ़वाः इधर परदेस से लौटे युवक ने क्वारंटाइन से पहले जान दे दी, उधर पैदल चलते मजदूर ने दम तोड़ा

गढ़वाः इधर परदेस से लौटे युवक ने क्वारंटाइन से पहले जान दे दी, उधर पैदल चलते मजदूर ने दम तोड़ा
Publicbol (महाराष्ट्र से लौटे युवक ने क्वारंटाइन में जाने से पहले जान दे दी)
पीबी ब्यूरो ,   May 13, 2020

कोरोना वायरस के खतरे और लॉकडाउन को लेकर उपजे असाधारण संकट के बीच प्रवासी मजदूरों की बेबसी का अंतहीन सिलसिला जारी है. झारखंड के गढ़वा में पिछले दो दिनों के दौरान दो घटना ने गांव के लोगो को परेशान कर दिया है. 

महाराष्ट्र के शोलापुर से एक घर लौटे एक युवा प्रवासी मजदूर से जब क्वारंटाइन सेंटर जाने को कह गया, तो उसने पेड़ पर फांसी लगाकर जान दे दी.

यह घटना सोमवार की है. रंका थाना क्षेत्र के चुटिया पंचायत के हाटदोहर मझवार टोला के मुकेश कुमार दिहाड़ी खटने महाराष्ट्र गए थे. 

लॉकडाउन में कई दिनों तक फंसे रहे. इधर 11 मई को कई मजदूर साथियों के साथ वह जैसे- तैसे घर लौटने में सफल रहा.  

मुकेश के पिता नारायण गौड़ का कहना है कि जब बेटा घर लौटा, तो एहतियात के तौर पर हमलोग ने कुछ दिन क्वारंटाइन सेंटर में रहने को कहा. प्रशासन वाले और गांव के मुखिया भी उसे समझाकर गए थे. 

इसे भी पढ़ें: केंद्र के आर्थिक पैकेज का आगे बढ़ाकर लाभ उठाए झारखंड सरकारः बाबूलाल मरांडी

नारायण गौड़ बताते हैं, ''सोमवार को हमलोगों ने उसे नहाकर खाना खाने को कहा. उसे बताया गया कि भंवरी गांव में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर चले जाना. बेटे ने पूछा कि खाने में क्या बना है. इसके बाद बिस्किट खाकर पानी पीया और बैग लेकर निकल गया. बाद में मझवा टोला प्राथमिक स्कूल के किनारे चौकंडी के पेड़ पर वह गमछे के फंदे पर लटका मिला. सबसे पहले उसकी मां ने बेटे को पेड़ से लटका देखा. इसके बाद घर में कोहराम मच गया. मुखिया मिथिलेश यादव ने पुलिस को इसकी सूचना दी. रंका थाना प्रभारी सुधांशु कुमार पहुंचे और शव को नीचे उतरवाया.''

मुकेश कुमार के साथ गांव के ही द्वारिका गौड़ का बेटा रामसूरत गौड़ भी महाराष्ट्र से लौटा है. रामसूरत बताते हैं कि महाराष्ट्र के शोलापुर की एक सीट निर्माण फैक्ट्री में काम करते थे. 

वहां से 7 मई को निकले थे. कभी पैदल तो कभी ट्रक के सहारे हमलोग यहां पहुंचे. यहां पहुंचने पर हमसे कहा गया कि क्वारंटाइन सेंटर में जाना होगा. हम दोनों जाने को तैयार थे, पर न जाने मुकेश के मन में क्या कुछ चल रहा था कि क्वारंटाइन में जाने से पहले उसने जान दे दी. 

उधर गढ़वा जिले के मेराल प्रखंड के बनवरिया गांव में मातम पसरा है. इस गांव के बाबूलाल सिंह खरवार रोजी-रोटी के लिए गांव के कई लोगों के साथ कर्नाटक गए थे. मंगलवार को उनकी लाश दरवाजे पर देख कर घर वालों का बुरा हाल था. 

दरअसल बाबूलाल खरवार कर्नाटक से मजदूर साथियों के साथ पैदल गांव लौट रहे थे. चिकोड़ी थाना की पुलिस ने झारखंड के मजदूरों को रोक लिया. इस बीच मजदूरों की जांच कराई जाने लगी.

बाबूलाल खरवार गिर पड़े और उनकी मौत हो गई. इसके बाद बाबूलाल की लाश घर भेज दी गई. जबकि दर्जन भर मजदूर वहीं फंसे हैं. 

इधर मंगलवार को स्थानीय जेएमएम के नेता राजेश बैठा, विनोद प्रसाद बाबूलाल खरवार के परिजनों से मिलकर उन्हें आर्थिक सहायता दी.  

गौरतलब है कि पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में सरायकेला खरसावां के एक आदिवासी मजदूर रवि मुंडा की मौत हो गई थी. रवि मुंडा अपने मजदूर साथियों के साथ पैदल ही नागपुर से लौट रहे थे.

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान
मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान
भारत निश्चित ही अपनी आर्थिक वृद्धि फिर से हासिल करेगा, सुधारों से मिलेगी मदद: पीएम मोदी
भारत निश्चित ही अपनी आर्थिक वृद्धि फिर से हासिल करेगा, सुधारों से मिलेगी मदद: पीएम मोदी
सुर्ख़ियों में 12 साल की बच्ची निहारिका: बचाए पैसे से तीन मजदूरों को वापस झारखंड भेजा
सुर्ख़ियों में 12 साल की बच्ची निहारिका: बचाए पैसे से तीन मजदूरों को वापस झारखंड भेजा
झारखंड के लिए 2 समेत राज्य सभा की 18 सीटों पर 19 जून को होगा चुनाव, सरगर्मी तेज
झारखंड के लिए 2 समेत राज्य सभा की 18 सीटों पर 19 जून को होगा चुनाव, सरगर्मी तेज
जल संसाधन विभाग में पिछले तीन साल के सभी टेंडरों की जांच होगी, हेमंत ने दिए आदेश
जल संसाधन विभाग में पिछले तीन साल के सभी टेंडरों की जांच होगी, हेमंत ने दिए आदेश
मशहूर संगीतकार 42 साल के वाजिद खान नहीं रहे, साजिद-वाजिद की जोड़ी हुई अधूरी
मशहूर संगीतकार 42 साल के वाजिद खान नहीं रहे, साजिद-वाजिद की जोड़ी हुई अधूरी
मानसून ने केरल में दी दस्तक, अब मौसम बारिश वाला
मानसून ने केरल में दी दस्तक, अब मौसम बारिश वाला
क्या लॉकडाउन की परवाह नहीं करतीं कांग्रेस विधायक अंबा, केरेडारी की सभा में भीड़ से उठते सवाल
क्या लॉकडाउन की परवाह नहीं करतीं कांग्रेस विधायक अंबा, केरेडारी की सभा में भीड़ से उठते सवाल
चक्रधरपुरः सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सली हमले में एसडीपीओ का बॉडीगार्ड शहीद, एक एसपीओ की भी मौत
चक्रधरपुरः सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सली हमले में एसडीपीओ का बॉडीगार्ड शहीद, एक एसपीओ की भी मौत
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद

Stay Connected

Facebook Google twitter