दो महीने बाद सामने आए नजरबंद फारूक अब्दुल्ला, पार्टी नेताओं से मुलाकात की

दो महीने बाद सामने आए नजरबंद फारूक अब्दुल्ला, पार्टी नेताओं से मुलाकात की
Courtesy-Twitter ANI
पीबी ब्यूरो ,   Oct 06, 2019

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को अप्रभावी किए जाने के बाद रविवार को नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के 15 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने पार्टी के नज़रबंद अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला और उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला से श्रीनगर में मुलाकात की. इस मुलाकात के लिए नेताओं को इजाज लेनी पड़ी थी. 

एनडीटीवी के मुताबिक अब पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती मिलने के लिए भी पीडीपी के प्रतिनिधिमंडल को इजाजत मिल गई है. जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पीडीपी प्रतिनिधिमंडल को पूर्व सीएम और पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती से मिलने की इजाजत दी है. 

बता दें कि यह फैसला नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) से उनकी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात के कुछ घंटों बाद ही लिया गया है. महबूबा मुफ्ती की पार्टी के 10 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल उनसे सोमवार को मुलाकात करेगा.

उधर पीटीआई के मुताबिक नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रतिनिधिमंडल ने दोनों नेताओं (फारूक और उमर) के साथ अलग-अलग बैठक में राज्य के घटनाक्रम और स्थानीय निकाय के चुनाव पर चर्चा की. इस प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई नेकां के जम्मू संभाग के प्रमुख देवेंद्र सिंह राणा कर रहे थे.

प्रतिनिधिमंडल ने पहले हरि निवास में नजरबंद पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के साथ करीब 30 मिनट तक बैठक की. उमर को बीते पांच अगस्त को नजरबंद करने के बाद यह पार्टी नेताओं के साथ उनकी पहली बैठक है. केंद्र ने पांच अगस्त को ही राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाने का ऐलान किया था. इसके बाद प्रतिनिधिमंडल फारूक अब्दुल्ला के घर गया.

इसे भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने आरे में पेड़ों की कटाई पर लगाई रोक

पार्टी के दोनों वरिष्ठ नेताओं के साथ हुई बैठक के बाद देवेंद्र सिंह राणा ने पत्रकारों से कहा कि कोई भी राजनीतिक प्रक्रिया शुरू करने के लिए पार्टी नेताओं को रिहा किया जाना जरूरी है. उनका कहना था, ‘लोगों को कैद करने को लेकर नाराज़गी है. हम एक पार्टी के तौर पर अपील करते हैं कि जम्मू कश्मीर में राजनीतिक प्रक्रिया शुरू करने तथा लोकतंत्र को पुनर्जीवित करने के लिए सभी राजनीतिक कैदियों, चाहे वे मुख्यधारा की राजनीतिक पार्टी के हों या अन्य हों, अगर उनका आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है तो उन्हें छोड़ा जाना चाहिए, ताकि जम्मू कश्मीर के लोगों के दिलों को जीता जा सके.’

देवेंद्र सिंह राणा के मुताबिक नेशनल कॉन्फ्रेंस के सभी नेताओं का एकमत से मानना है कि वे लोगों की भलाई के लिए संघर्ष करना जारी रखेंगे. पार्टी नेता जम्मू-कश्मीर में सांप्रदायिक सौहार्द, भाईचारा और धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने को बरकरार रखने के लिए काम करते रहेंगे.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना, नोटबंदी और जीसटी को हार्वर्ड में असफलता पर केस स्टडीज की तरह पढ़ाया जाएगा : राहुल गांधी
कोरोना, नोटबंदी और जीसटी को हार्वर्ड में असफलता पर केस स्टडीज की तरह पढ़ाया जाएगा : राहुल गांधी
दिल्ली के 106 वर्षीय बुजुर्ग कोविड-19 संक्रमण से ठीक हुए, 102 साल पहले स्पेनिश फ्लू को भी दी थी मात
दिल्ली के 106 वर्षीय बुजुर्ग कोविड-19 संक्रमण से ठीक हुए, 102 साल पहले स्पेनिश फ्लू को भी दी थी मात
दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत, रूस को पीछे छोड़ा
दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत, रूस को पीछे छोड़ा
अब जेएमएम ने दिखाया कच्चा-चिट्ठाः रघुवर राज में 1450 एकड़ जमीन गलत तरीके से बेची गई
अब जेएमएम ने दिखाया कच्चा-चिट्ठाः रघुवर राज में 1450 एकड़ जमीन गलत तरीके से बेची गई
चुनौतियों का स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है : पीएम मोदी
चुनौतियों का स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है : पीएम मोदी
चीनी घुसपैठ पर लद्दाखवासियों की बात नजरअंदाज नहीं करे सरकार: राहुल गांधी
चीनी घुसपैठ पर लद्दाखवासियों की बात नजरअंदाज नहीं करे सरकार: राहुल गांधी
जब कोरोना से बचने के लिए बनवा लिए सोने का मास्क, पैसे लगे तीन लाख
जब कोरोना से बचने के लिए बनवा लिए सोने का मास्क, पैसे लगे तीन लाख
नीट और जेईई मेन परीक्षाएं स्थगित, मिली सितंबर में नई तारीख
नीट और जेईई मेन परीक्षाएं स्थगित, मिली सितंबर में नई तारीख
'15 साल में हमसे कोई भूल हुई थी तो उसके लिए माफी मांगते हैं'
'15 साल में हमसे कोई भूल हुई थी तो उसके लिए माफी मांगते हैं'
कानपुरः छापा मारने गई पुलिस पर अपराधियों की फायरिंग, डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की मौत
कानपुरः छापा मारने गई पुलिस पर अपराधियों की फायरिंग, डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की मौत

Stay Connected

Facebook Google twitter