रांची का चान्हो: कर्ज में डूबे किसान ने कर ली खुदकुशी, मनरेगा से कुआं मिला, पर पैसे नहीं

रांची का चान्हो: कर्ज में डूबे किसान ने कर ली खुदकुशी, मनरेगा से कुआं मिला, पर पैसे नहीं
Javed khan
पीबी ब्यूरो ,   Jul 27, 2019

झारखंड की राजधानी रांची के चान्हो में एक किसान लखन महतो ने खुदकुशी कर ली है. पतरातू गांव के रहने वाले लखन महतो कर्ज में डूबे थे. उन्हें मनरेगा से एक कुंआ मिला था, पर पैसे के भुगतान के लिए सरकारी दफ्तरों का चक्कर लगाते हताश और निराश थे. कुंआ का काम 3 लाख 54 हजार रुपये का था.

इसके निर्माण में समय पर पैसे का भुगतान नहीं किया गया था. लखन महतो ने परिजनों से डेढ़ लाख का कर्ज ले रखा था. जबकि योजना में उसे एक लाख 54 हजार का भुगतान नहीं किया गया था. और इसके लिए प्रखंड कार्यालय के चक्कर लगा-लगाकर थक गए. आखिरकार उन्होंने उसी कुआं में कूदकर जान दे दी.

Publicbol

लखन के परिवार में पत्नी और बूढ़ी मां के अलावा उसके तीन बेटे हैं. ग्रामीणों के मुताबिक, शुक्रवार सुबह से लखन घर से गायब थे. शाम को भी घर नहीं लौटे, तो परिजनों ने उनकी खोजबीन की.

शनिवार की सुबह उनकी लाश कुएं में देखी गई. पुलिस ने लखन महतो का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. इस बीच मांडर से बीजेपी की विधायक घटना की जानकारी लेने गांव पहुंची हैं. साथ ही की सरकारी अधिकारी भी जानकारी लेने गांव गए हैं. पीड़ित परिवार ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌गम में डूबा है. गांव के लोग भी दुखी हैं.

इसे भी पढ़ें: क्या अक्तूबर में ही हो जाएगा झारखंड विधानसभा का चुनाव?

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले सिसई में एक गरीब‌‌ किसान ने सरकारी योजना का सब समय पर नहीं मिलने से अपनी जान दे दी थी. जबकि मांडर में पहले भी किसान आत्महत्या कर चुके हैं.

लखन के परिजन बताते हैं कि कूप के निर्माण में मेटेरियल के लिए लखन महतो ने भरनो तुति अम्बा निवासी अपने साले हरि महतो से 80 हजार, अपने दामाद इटकी भंडरा निवासी श्याम महतो से 40 हजार व तोरपा के कुंदरी निवासी बहनोई बीरबल महतो से 30 हजार रुपये कर्ज लिए थे, जिसे वह अब तक वापस नहीं कर पाया था। बीच-बीच में उनसे कहा करता था कि प्रखंड से भुगतान मिलते ही उनका पैसे चुका देगा.

पत्नी विमला देवी ने बताया कि पति बकाया पैसे नहीं मिलने से काफी परेशान रहा करते थे और बची हुई राशि के भुगतान को लेकर काफी दिनों से चान्हो प्रखंड मुख्यालय का का चक्कर लगा रहे थे. वहां प्रखंड कर्मियों द्वारा कहा जाता था कि जल्द ही उनका पैसा उन्हें मिल जाएगा लेकिन अब तक राशि का भुगतान नहीं किया गया.

उधर, घटना को लेकर चान्हो बीडीओ संतोष कुमार ने कहा कि लखन महतो की मौत एक दुर्घटना है. इसका मनरेगा का कोई संबंध नहीं है. लखन महतो की मौत की सूचना पर चान्हो पहुंचे आइटीडीपी के निदेशक अवधेश पांडे ने प्रखंड में मनरेगा से लखन महतो के कूप निर्माण से संबंधित दस्तावेज निकलवा कर जानकारी ली.

उन्होंने कहा कि लखन की मौत कैसे हुई है यह जांच का विषय है. रही बात उसके कूप निर्माण की तो उसके मद में करीब डेढ़ लाख रुपये का बकाया है.बाद में उन्होंने अन्य अधिकारियों के साथ पतरातू गांव पहुंचकर परिजनों व ग्रामीणों से भी बात कर पूरी जानकारी हासिल की.

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 29 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 29 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
भारत में पांव पसारने लगा कोरोना वायरस, मरने वालों की संख्या 25, संक्रमितों की तादाद करीब 1000
भारत में पांव पसारने लगा कोरोना वायरस, मरने वालों की संख्या 25, संक्रमितों की तादाद करीब 1000
झारखंडः मदद में उतरी बीजेपी, गरीब और मजदूरों के बीच 'मोदी आहार' का वितरण शुरू
झारखंडः मदद में उतरी बीजेपी, गरीब और मजदूरों के बीच 'मोदी आहार' का वितरण शुरू
बचके रहिए, भारत में कोरोना वायरस के बढ़ने का सिलिसिला तेज, मरने वालों का आंकड़ा 19
बचके रहिए, भारत में कोरोना वायरस के बढ़ने का सिलिसिला तेज, मरने वालों का आंकड़ा 19
लॉक डाउन में नहीं आई बारात, दो सगी बहनों का ऑनलाइन निकाह
लॉक डाउन में नहीं आई बारात, दो सगी बहनों का ऑनलाइन निकाह
पहले देश, स्थिति सामान्य होने दें, फिर आईपीएल पर बात कर सकते हैं : रोहित
पहले देश, स्थिति सामान्य होने दें, फिर आईपीएल पर बात कर सकते हैं : रोहित
कोरोनाः नया टेस्ट विकसित, संक्रमण की पुष्टि सिर्फ ढाई घंटे में हो सकेगी
कोरोनाः नया टेस्ट विकसित, संक्रमण की पुष्टि सिर्फ ढाई घंटे में हो सकेगी

Stay Connected

Facebook Google twitter