जम्मू कश्मीर: मुठभेड़ में कर्नल, मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद, दो आतंकवादी ढेर

जम्मू कश्मीर: मुठभेड़ में कर्नल, मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद, दो आतंकवादी ढेर
प्रतीकात्मक तस्वीर
पीबी ब्यूरो ,   May 03, 2020

उत्तरी कश्मीर में हंदवाड़ा क्षेत्र के एक गांव में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए तथा दो आतंकवादी भी मारे गए.

पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने रविवार को कहा, ‘‘यह सूचित करते हुए दुख हो रहा है कि कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद और जम्मू कश्मीर पुलिस के उपनिरीक्षक शकील काजी समेत पांच बहादुर सुरक्षाकर्मी कर्तव्य पालन करते हुए शहीद हो गए.’’ उन्होंने बताया कि कर्नल और उनकी टीम ने आतंकवादियों द्वारा बंधक बनाए गए नागरिकों को बहादुरी से मुक्त करा लिया.

मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए। सेना ने बताया कि कुपवाड़ा जिले में हंदवाड़ा के चंगीमुल्ला इलाके में एक मकान में आतंकवादियों द्वारा कुछ नागरिकों को बंधक बनाए जाने की खुफिया सूचना मिलने के बाद सेना तथा जम्मू कश्मीर पुलिस ने एक संयुक्त अभियान चलाया था.

इसने बताया कि पांच सैन्य और पुलिस कर्मियों की टीम नागरिकों को छुड़ाने के लिए आतंकवादियों के कब्जे वाले इलाके में घुसी और नागरिकों को सफलतापूर्वक बचा लिया.

सेना ने बताया कि हालांकि इस प्रक्रिया के दौरान आतंकवादियों ने टीम पर भारी गोलीबारी की और इसके बाद हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए तथा पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। अधिकारियों ने बताया कि ऐसा माना जा रहा है कि आतंकवादी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से घुसपैठ करने वाले एक समूह को लेने के लिए हंदवाड़ा पहुंचे थे.

इसे भी पढ़ें: क्यों रांची का रेड जोन से बाहर निकलना फिलहाल आसान नहीं?

कर्नल आशुतोष शर्मा और मेजर अनुज सूद के अलावा मुठभेड़ में नायक राजेश और लांस नायक दिनेश भी शहीद हो गए. कर्नल शर्मा 21 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर थे तथा उन्हें कश्मीर में दो बार वीरता पदक से सम्मानित किया जा चुका था. अधिकारियों ने बताया कि यहां एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया जाएगा जिसके बाद कर्नल शर्मा के पार्थिव शरीर को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर ले जाया जाएगा तथा मेजर सूद के पार्थिव शरीर को चंडीगढ़ ले जाया जाएगा.

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सेना के दो अधिकारियों समेत 5 जवानों की मौत हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीद जवानों को रविवार को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- "हंदवाड़ा में शहीद हुए हमारे सैनिकों और सुरक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि. उनकी वीरता और बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा. उन्होंने बहुत की समर्पण के साथ राष्ट्र की सेवा की और हमारे नागरिकों की रक्षा के लिए अथक परिश्रम किया. उनके परिवारों और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं."

(भाषा से इनपुट)


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
कृषि बिल के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, समर्थन में तेजस्वी यादव ट्रैक्टर लेकर उतरे सड़क पर
कृषि बिल के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, समर्थन में तेजस्वी यादव ट्रैक्टर लेकर उतरे सड़क पर
पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा, विरोट बोले, बेहद अहम है यह
पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा, विरोट बोले, बेहद अहम है यह
रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस से निधन, एम्स में ली अंतिम सांस
रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस से निधन, एम्स में ली अंतिम सांस
पलामू: टीपीसी का जोनल‌ कमांडर गिरेंद्र गंझू गिरफ्तार
पलामू: टीपीसी का जोनल‌ कमांडर गिरेंद्र गंझू गिरफ्तार
टाइम की सूचीः नरेंद्र मोदी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में, पर तल्ख टिप्पणी भी
टाइम की सूचीः नरेंद्र मोदी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में, पर तल्ख टिप्पणी भी
देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 90 हजार पार, अभी करीब 10 लाख लोगों का इलाज जारी
देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 90 हजार पार, अभी करीब 10 लाख लोगों का इलाज जारी
वीआरएस के बाद गुप्तेश्वर पांडे ने कहा, लोगों से बात कर तय करूंगा कि आगे क्या करना है
वीआरएस के बाद गुप्तेश्वर पांडे ने कहा, लोगों से बात कर तय करूंगा कि आगे क्या करना है
कृषि सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरूरत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास जारी रहेंगे: मोदी
कृषि सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरूरत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास जारी रहेंगे: मोदी

Stay Connected

Facebook Google twitter