दुमका में रोजगार मेला, डेढ़ हजार युवक पहुंचे, 361 को मिला काम

दुमका में रोजगार मेला, डेढ़ हजार युवक पहुंचे, 361 को मिला काम
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Feb 07, 2020

झारखंड की उप राजधानी दुमका के नियोजनलाय परिसर में आज दत्तोपंत ठेंगड़ी रोजगार मेला का आयोजन हुआ. 21 कंपनियों के लोग 3958 पदों पर युवाओं का चयन करने के लिए पहुंचे थे. इनमें योग्यता के आधार पर 361 युवाओं को काम मिला. 

हालांकि रोजगार मेले में दुमका और आसपास के इलाके से डेढ़ हजार युवा पहुंचे थे. चयनित युवाओं को दुमका की उपायुक्त राजेश्वरी बी ने नियुक्ति पत्र सौंपा. इससे पहले उन्होंने रोजगार मेला का उदघाटन किया. वर्तमान समय मे नियोजनालय में कुल 9945 युवक-युवतियां पंजीकृत हैं.

झारखंड में हेमंत सोरेन की नई सरकार गठन के बाद संताल परगना में यह पहला रोजगार मेला था. इस बार हेमंत सोरेन दुमका और बरहेट से चुनाव जीते हैं. हालांकि दुमका की सीच वे छोड़ रहे हैं. हेमंत सोरेन कहते रहे हैं कि दुमका उनकी कर्मभूमि है. 

इधर सरकार ने युवाओं को रोजगार के मुकम्मल अवसर देने के लिए नियोजनालयों में नए सिरे से निबंधन करने को कहा है. 18 दिनों में लगभग ढाई लाख युवाओं ने रोजगार के लिए अपने नाम का पंजीकरण कराया है. पंजीकरण की रफ्तार को देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि राज्य में बड़े पैमाने पर युवा रोजगार की तलाश में हैं. 

उधर सरकार विभागों में अब भी कम से कम एक लाख रिक्तियां हैं. लेकिन इन रिक्तियों को भरना तुरंत में आसान नहीं माना जा रहा है.  

इसे भी पढ़ें: रांची के वरिष्ठ पत्रकार सतीश वर्मा का निधन

उधर दुमका मे युवाओं को नियुक्त पत्र देते हुए दुमका डीसी ने अपने संबोधन में कहा, ''रोजगार चाहे जो हो, उसके लिए योग्यता की आवश्यकता होती है. वर्तमान समय मे हर क्षेत्र में रोजगार के लिए कड़ी प्रतियोगिता है. उन्होंने कहा कि आप जिस नौकरी की इच्छा रखते हों, उसके अनुरूप खुद को तैयार करना जरूरी है. अपने आत्म विश्वास को मजबूत रखें. उन्होंने कहा कि व्यक्तित्व विकास बहुत ही महत्वपूर्ण है और यह आपको खुद करना होगा. इंटरनेट का उपयोग ज्ञान बढ़ाने के लिए करें.  करंट अफेयर्स से अवगत रहे.''

उपायुक्त ने कहा कि कौशल विकास के लिए लगातार प्रशिक्षण दिया जा रहा है. बैंकों द्वारा भी लाखों रुपए का ऋण देकर युवाओं को रोजगार देने का कार्य किया जा रहा है. वैसे लोग जो रोजगार करना पसंद करते हैं. वह विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत ऋण लेकर अपना रोजगार शुरू कर सकते हैं.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा

Stay Connected

Facebook Google twitter