जब हवाई जहाज से रांची पहुंचे इंडियन आइडल में चमके दिवस नायक, स्वागत से हुए विभोर

जब हवाई जहाज से रांची पहुंचे इंडियन आइडल में चमके दिवस नायक, स्वागत से हुए विभोर
पीबी ब्यूरो ,   Nov 03, 2019

गायिकी की दुनिया में अपनी छाप छोड़ रहे दिवस नायक की आंखों में चमक थी. गांव, समाज और घर-परिवार के स्वागत से विभोर होते रहे. किसी ने कांधे पर उठाया. किसी ने गले और सीने से लगाया. सामने पिता दिनेश नायक भी थे, जो अपने लाल को देखकर फूले नहीं समाते रहे. मुंबई से दिवस नायक हवाई जहाज का सफर करते हुए रांची पहुंचे. 

फिर यहां से रामगढ़ होते हुए अपना गांव बयांग. कैंटीन में बर्तन धोनकर जीवन बसर करते और गायिकी की दुनिया में पैर जमाते दिवस के हाथ खाली नहीं थे.

दरअसल, उसे इंडियन आइडल की जज जानी-मानी गायिका ने एक लाख रुपए का पुरस्कार देते हुए कहा था, रांची फ्लाइट से ही जाना. 

रांची पहुंचने पर झारखंड राज्य घासी समाज संघ के अध्यक्ष डॉ रीझू नायक की अगुवाई में समज के कई प्रतिनिधि रांची एयरपोर्ट पर पहुंचे थे. उधर रामगढ़, 

चितरपुर, दुलमी से समाज के प्रतिनिधि और पत्रकार संजय नायक के साथ भी गांवों और कस्बों से कई लोग स्वागत में राची पहुंचे थे.

इसे भी पढ़ें: सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध के बीच देवेंद्र फड़णवीस ने अमित शाह से मुलाकात की

दिवस नायक जैसे ही एयरपोर्ट से बाहर निकले, उन्हें फूल माला से लाद दिया गया. दिवस की पहली प्रतिक्रिया थी-''इस बेशुमार प्यार और समर्थन ने हमें हौसला दिया है. झारखंड का नाम वह रोशन कर सकें, इसकी कोशिश तेज करेंगे. अपनी माटी पर आने का उन्हें सालों से इंतजार था. जीवन में आए एक मोड़ ने इसे साकार किया है. आगे का सफर बाकी है. सपना एक ही है- गायक बनना''. 

रांची से निकलने के बाद दिवस का जगह- जगह स्वागत होता रहा और वे सबका आभार प्रकट करते रहे. रामगढ़ के चितरपुर बस स्टैंड पर दिवस के स्वागत में सैकड़ों लोग जुटे. 

इधर रांची में स्वागत करने वालों में राजेश नायक, डॉ उपेंद्र कुमार महतो, सुदर्शन नायक, लालधन नायक, रामनायक नयक, धंजू नायक, सोनू नायक, विजय नायक, रंजीत नायक समेत कई लोग शामिल थे. 

रातों- रात सुर्खियों में आए दिवस कुमार नायक रामगढ़ जिले में दुलमी प्रखंड के सुदूर बयांग गांव के रहने वाले हैं. 

गौरतलब है कि सोनी मैक्स चैनल के इंडियन आइडल में दिवस अपनी गायिकी खूब वाहवाही बटोरते रहे हैं. दिवस नायक ने मशहूर सूफी गायक कैलाश खेर का गीत 'सैंया...तू जो छू ले प्यार से' गाया था. शनिवार की रात दिवस जैसे ही मंच पर आए, उन्होंने जजों को अपनी बनाई पेटिंग भेंट की. पेंटिंग देख जजों ने तारीफ की और कहा कि बर्तन धोने वाले के हाथों में गजब का कला है. 

इससे पहले सोनी टीवी के ऑफिशियल ट्विटर से दिवस का एक वीडियो भी साझा किया गया था. सोशल मीडिया में ऑडिशन का गीत भी खूब वायरल हुआ और लाखों लोगों ने देखा-सुना. इंडियन आइडल सीजन 11- के तीन सदस्यीय जज अनु मलिक, नेहा डडलानी और नेहा कक्कड़ ने दिवस की खूब तारीफें की. पिछले दिनों नेहा कक्कड़ ने दिवस को एक लाख रुपए का पुरस्कार देते हुए कहा था कि हवाई जहाज से सफर करना. 

कौन है दिवस नायक

इससे पहले इंडियन आइडल के कार्यक्रम में दिवस नायक से जब जजों ने पूछा कि क्या करते हो, तो पल भर के लिए वे खामोश हो गए. फिर उन्होंने बताया कि कैंटीन में बरतन धोने का काम करते हैं. दिवस ने यह भी कहा कि उन्होंने अपने माता-पिता को नहीं बताया है कि वह बरतन धोने का काम करते हैं. 

दिवस नायक के पिता पहले रामगढ़ स्थित तोपा कोलियरी इलाके में घूम कर मनिहारी का सामान बेचा करते थे. मनिहारी का धंधा मंदा पड़ा तो गांव में ही रहने लगे. जबकि दिवस की मां निमी देवी अभी कपड़े सिलकर घर का खर्च चलाती हैं. दिवस नायक की एक बहन हैं. 

इसे भी पढ़ें: गिनीज बुक में पांच फुट सात इंच लंबी बालों वाली निलांशी पटेल का नाम समेत भारत के 80 कारनामे

दिवस नायक ने 12 वीं तक की पढ़ाई की है. मुफलिसी के दौर के बीच पांच साल पहले वो मुंबई चले गए. वहां वे पेटिंग और गायिकी में आगे बढ़ रहे हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

 अब उत्तर प्रदेश का मजदूर दुनिया में जहां भी होगा सरकार उसके साथ खड़ी रहेगी : योगी आदित्यनाथ
अब उत्तर प्रदेश का मजदूर दुनिया में जहां भी होगा सरकार उसके साथ खड़ी रहेगी : योगी आदित्यनाथ
कोरोना का कहरः दुनिया के टॉप 10 देशों में भारत भी शामिल
कोरोना का कहरः दुनिया के टॉप 10 देशों में भारत भी शामिल
चाईबासा के प्रवासी आदिवासी की मौत, लाश पड़ी है वर्धा अस्पताल में, गम में डूबे हैं 15 मजदूर साथी
चाईबासा के प्रवासी आदिवासी की मौत, लाश पड़ी है वर्धा अस्पताल में, गम में डूबे हैं 15 मजदूर साथी
'अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, हम इसे तुरंत समाप्त नहीं कर सकते'
'अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, हम इसे तुरंत समाप्त नहीं कर सकते'
देश में 4 करोड़ प्रवासी मजदूर, अब तक 75 लाख घर लौटें हैं :गृह मंत्रालय
देश में 4 करोड़ प्रवासी मजदूर, अब तक 75 लाख घर लौटें हैं :गृह मंत्रालय
बोकारोः गांव की महिलाओं ने एक महिला को बेरहमी से पीटा, बाल काटे, खींचकर कपड़े खोले, 11 गिरफ्तार
बोकारोः गांव की महिलाओं ने एक महिला को बेरहमी से पीटा, बाल काटे, खींचकर कपड़े खोले, 11 गिरफ्तार
70 हजार भाड़ा देकर मुंबई से लौटे 7 मजदूर, बाबूलाल बोले, 'हेमंत जी, अफसर आपको सच बताते नहीं'
70 हजार भाड़ा देकर मुंबई से लौटे 7 मजदूर, बाबूलाल बोले, 'हेमंत जी, अफसर आपको सच बताते नहीं'
 'महाभारत' में इंद्र का किरदार निभाने वाले अभिनेता के पास दवा और खाने का पैसा भी नहीं
'महाभारत' में इंद्र का किरदार निभाने वाले अभिनेता के पास दवा और खाने का पैसा भी नहीं
झारखंडः लॉकडाउन में मवेशियों की तस्करी, ट्रक जब्त, क्रेटा कार पर चल रहा तस्कर सलाउद्दीन गिरफ्तार
झारखंडः लॉकडाउन में मवेशियों की तस्करी, ट्रक जब्त, क्रेटा कार पर चल रहा तस्कर सलाउद्दीन गिरफ्तार
झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा को दिल्ली हाईकोर्ट से झटका, चुनाव लड़ने पर रोक लगी रहेगी
झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा को दिल्ली हाईकोर्ट से झटका, चुनाव लड़ने पर रोक लगी रहेगी

Stay Connected

Facebook Google twitter