बगोदर में माले की गोलबंदी, दीपंकर ने कहा, रघुवर सरकार की आखिरी पारी होगी

बगोदर में माले की गोलबंदी, दीपंकर ने कहा, रघुवर सरकार की आखिरी पारी होगी
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Nov 05, 2019

भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा है कि हरियाणा और महाराष्ट्र में 75 तथा 200 पार का नारा देने वाली बीजेपी को झटका लग चुका है. झारखंड विधानसभा चुनाव में रघुवर दास सरकार की आखिरी पारी होगी.

दीपंकर भट्टाचार्य ने आज बगोदर में माले कार्यकर्ताओं और समर्थकों को लामबंद करने के लिहाज से विधानसभा स्तरीय सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे थे. 

उन्होंने कहा कि देश की अर्थ व्यवस्था खतरे में है. बीजेपी की सरकारें भ्रम का जाल फैलाकर नौजवान, मेहनकश, किसान को छलने में जुटी है. जनता के सवालों पर चुनावों में बीजीपी बातें नहीं करती. उन्होंने झारखंड के युवाओं से अपील की है कि विधानसभा चुनावों में जमीनी मुद्दों पर बीजेपी और उसकी सरकारों से सवाल करें और जवाब मांगें. 

उन्होंने कहा कि रोजगार के सवाल पर बीजेपी की सरकार ने झारखंड राज्य के युवाओं के साथ धोखाधड़ी की है. गिरिडीह जिले से पलायन बड़ी बेबसी है. पीढ़ी दर पीढ़ी लोग पलायन को विवश हैं. माले ने जमीन सवालों पर हमेशा संघर्ष का झंडा बुलंद किया है. हम इस चुनाव में भी डटकर बीजेपी की जनविरोधी नातियों को उजागर करेंगे. 

बगोदर के पूर्व विधायक विनोद सिंह ने कहा है कि पांच सालों में बगोदर को विकास के पैमाने पर पीछे धकेला गया. सड़कों का बुरा हाल है. नए भवन नहीं बने. और न ही शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार हुआ. बीजेपी सिर्फ ध्रुवीकरण को आधार बनाकर चुनाव मैदान में जाती रही है. गांवों के लोगों को हक और अधिकार से लगातार वंचित किया जा रहा है. भाकपा माले की पहचान सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष करने की रही है. 

इसे भी पढ़ें: झारखंडः जेल में बंद पूर्व मंत्री राजा पीटर को चुनाव लड़ने की अनुमति मिली

विनोद सिंह ने कहा कि माले के कार्यकर्ता और समर्थक बगोदर में बदलाव के लिए आगे बढ़ें. यह चुनाव झूठ और फरेब को उजागर करने के लिए लड़ा जाना है. बीजेपी सरकार की नीतियों का पर्दाफाश करने के लिए लड़ा जाना है. 

राजधनबार के विधायक राजकुमार यादव ने कहा कि पांच सालों में ही बगोदर का बीजेपी ने बुरा हाल कर दिया. शोषित, वंचित और आखिरी कतार में शामिल लोगों की बातें सत्ता और सिस्टम से पहुंचने से रही.

इस बार के चुनाव में माले के कार्यकर्ता गांव- गांव में लोगों की व्यापक गोलबंदी तैयार कर माले की जीत सुनिश्चित करें. जनता के सवालों पर सबसे ज्यादा संघर्ष माले ने ही किया है. 

सम्मेलन का संचालन परमेश्वर महतो ने किया. जबकि माले के नेता मनोज भक्त, पवन महतो, सदीप जायसवाल, जिप सदस्य गजेंद्र महतो, पूनम महतो, सरिता महतो, मुस्ताक अंसारी, मनोज पांडेय, पूरन महतो समेत पूरे विधानसभा के कार्यकर्ता मौजूद थे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

नीतीश कुमार एक थाना या ब्लॉक का नाम बता दें, जहां बिना 'चढ़ावा' काम होता होः तेजस्वी यादव
नीतीश कुमार एक थाना या ब्लॉक का नाम बता दें, जहां बिना 'चढ़ावा' काम होता होः तेजस्वी यादव
अभिनेत्री पायल घोष ने फिल्मकार अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया
अभिनेत्री पायल घोष ने फिल्मकार अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया
कृषि विधेयक किसानों के रक्षा कवच, विरोध करने वाले दे रहे बिचौलियों का साथ: पीएम मोदी
कृषि विधेयक किसानों के रक्षा कवच, विरोध करने वाले दे रहे बिचौलियों का साथ: पीएम मोदी
नक्सलियों और अपराधियों के आगे पस्त हेमंत सरकार निहत्थे सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठियां चला रहीः रघुवर दास
नक्सलियों और अपराधियों के आगे पस्त हेमंत सरकार निहत्थे सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठियां चला रहीः रघुवर दास
गढ़वा: जलावन के लिए लकड़ी चुनने गए पति-पत्नी पर मधुमक्खियों का हमला, दोनों की मौत
गढ़वा: जलावन के लिए लकड़ी चुनने गए पति-पत्नी पर मधुमक्खियों का हमला, दोनों की मौत
'राजपूत नहीं थे सुशांत', राजद विधायक के विवादित बयान पर बिहार में बीजेपी भड़की
'राजपूत नहीं थे सुशांत', राजद विधायक के विवादित बयान पर बिहार में बीजेपी भड़की
गृह मंत्री अमित शाह को एम्स से छुट्टी मिली
गृह मंत्री अमित शाह को एम्स से छुट्टी मिली
संसद में संजय राउत का तंज, क्या भाभीजी का पापड़ खाकर इतने लोग कोरोना से हुए ठीक?
संसद में संजय राउत का तंज, क्या भाभीजी का पापड़ खाकर इतने लोग कोरोना से हुए ठीक?
भारत-चीन तनावः राज्यसभा में बोले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, देश का मस्तक नहीं झुकने देंगे
भारत-चीन तनावः राज्यसभा में बोले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, देश का मस्तक नहीं झुकने देंगे
हेमंत दुमका से लौटे अब बाबूलाल के पहुंचने की तैयारी, उपचुनाव में लड़ाई होगी भारी
हेमंत दुमका से लौटे अब बाबूलाल के पहुंचने की तैयारी, उपचुनाव में लड़ाई होगी भारी

Stay Connected

Facebook Google twitter