कोरोना को लेकर सीपी सिंह के सवाल, 'हम राजधानी रांची के विधायक, पर अफसरों का यह बर्ताव क्यों '

कोरोना को लेकर सीपी सिंह के सवाल, 'हम राजधानी रांची के विधायक, पर अफसरों का यह बर्ताव क्यों '
पीबी ब्यूरो ,   Jul 21, 2020

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और रांची के विधायक सीपी सिंह ने कोरोना से निपटने की तैयारी को लेकर अफसरों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं.

उन्होंने कहा है कि जब राजधानी रांची के विधायक के साथ अफसरों का यह रवैया है, तो रांची शमेत दूसरे शहरों में आम जनता के साथ क्या हो रहा होगा. 

झारखंड विधानसभा के स्पीकर और सरकार में मंत्री भी रहे सीपी सिंह इन दिनों आइसोलेशन में हैं. कोरोना संक्रमित एक व्यक्ति के संपर्क में आने की वजह से एहतियातन उन्होंने यह कदम उठाया है. 

19 जूलाई को उन्होंने इसकी जानकारी भी साझा की थी. इसके साथ ही उन्होंने कहा था, ''मेरे संपर्क में जो भी लोग आए हैं वे खुद को क्वारंटाइन करें. फिलहाल मेरे घर, कार्यालय पर कोई नहीं आएं. मैं फोन पर उपलब्ध रहूंगा''.  

उनके आइसोलेशन में जाने के बाद क्या कुछ हुआ, इस बारे में आज सीपी सिंह ने ट्वीट करके कहा है, ''पढ़िए और समझिए, जब राजधानी रांची के विधायक के साथ इस तरह का बर्ताव करने के लिए अधिकारियों को सरकार ने खुली छूट दे रखी है, तो रांची समेत बाकी शहरों में आम जनता के साथ क्या होता होगा.''

इसे भी पढ़ें: रांचीः सप्ताह में तीन दिन दुकानें बंद रहेगी, चेंबर ऑफ कॉमर्स का एहतियातन फैसला

विधायक ने लिखा है, ''रविवार की शाम को मेरे निजी सहायक ने रांची के उपायुक्त और सिविल सार्जन को कोरेना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने की सूचना दी थी. अभी तक उस संक्रमित व्यक्ति के घर कोई अधिकारी रिपोर्ट बनाने गया और न ही उसके घर को सील किया गया. मेरे आवास का सैनिटाइज भी नहीं कराया गया. सिविल सार्जन ने को मेरे पीए े कॉल किया, तो उन्होंने कहा कि बात करता हूं. फिर उन्होंने कॉल उठाना या करना मुनासिब नहीं समझा''.

विधायक ने आगे कहा है, उपायुक्त से कल (सोमवार) को बात हुई. उन्होंने टेस्ट कराने की बात कही. पर कोई टीम नहीं आई और न ही किसी ने कुछ जानकारी दी. 

गौरतलब है कि हाल में रिम्स कोविड वार्ड से हुसैनाबाद के पूर्व विधायक शिवपूजन मेहता ने एक वी़डियो मीडिया को भेजा था. इसमें वे बता रहे थे कि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी मेरे घर के सदस्यों के बारे में 48 घंटे के दौरान कोई जानकारी नहीं ली गई और न ही जांच कराई गई. 

कोरोना से निपटने को लेकर राजधानी रांची मे सरकारी इंतजाम रिम्स की हालत पर और भी सवाल उठते रहे हैं.

रविवार को एक नौ की थैलीसमिया पीड़ित बच्ची जब कोरोना से संक्रमित हुई, तो उसके परिजन एंबुलेंस में लेकर आठ घंटे तक अस्पतालों का चक्कर लगाते रहे, पर किसी ने भर्ती नहीं लिया. 

इस मामले में स्वास्थ्य सचिव ने रांची के डीसी से रिपोर्ट तलब की है. इससे पहले रिम्स के कोविड वार्ड की हालत को लेकर सोशल साइट्स पर वायरल तस्वीरों पर अलग जांच बैठाई गई है.

उन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि कोरोना का मरीज बेड से नीचे गिार पड़ा है. एक मरीज नंग धड़ंग वार्ड में बैठा है. बेड भी टूटा पड़ा है.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े,  राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े, राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी

Stay Connected

Facebook Google twitter