रिम्स में कोरोना मरीज ने खुद को घंटो कमरे में बंद रखा, बरियातू के थानेदार ने दरवाजा तोड़ा

रिम्स में कोरोना मरीज ने खुद को घंटो कमरे में बंद रखा, बरियातू के थानेदार ने दरवाजा तोड़ा
Javed
पीबी ब्यूरो ,   Apr 28, 2020

झारखंड की राजधानी रांची में कोरोना के खतरे और भय के बीच अजीबोगरीब मामला सामने आया. राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कोरोना पॉजिटिव ने खुद को कमरे में 24 घंटे तक बंद किए रखा. इस दौरान रिम्स प्रशासन डर से सकपकाया रहा.

इस बीच बरियातू के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सपन महथा को घटना की जानकारी दी गई. वे अपने बॉडीगार्ड के साथ कोविड वार्ड पहुंचे. उन्होंने हिम्मत दिखाई. और दरवाजा तोड़ा. गनीमत, मरीज जिंदा था.  

अधिकारी, कर्मचारी अंदर जाने के जोखिम से बचते रहे. डॉक्टर, नर्स ने कहा कि वे दरवाजे कैसे तोड़ें. सपन कुमार महथा बताते हैं कि आज शाम उन्हें इस मामले की जानकारी दी गई. वे अपने बॉडीगार्ड के साथ कोविड वार्ड पहुंचे.

पूछताछ में पता चला कि रविवार की रात इस मरीज को कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया था. उसके बाद उसने अपने को कमरे में बंद कर लिया. 

अंदर मरीज किस हाल में है, किसी को इसकी खबर नहीं. महथा बताते हैं कि डॉक्टर और नर्सों ने अस्पताल प्रशासन से कहा कि वे कैसे दरवाजे तोड़ें. अधिकारी, कर्मचारी भी संशय में रहे. इन सबके बीच वक्त गुजरता रहा.

इसे भी पढ़ें: रिम्स में इलाजरत लालू को कोरोना संक्रमण का कोई खतरा नहीं- निदेशक

हालात को देखते हुए उन्हें लगा और देर नहीं की जा सकती. और जिसे भी बुलाएंगे, गुंजाइश है कि यह जोखिम उठाने से पहले वे हाथ खड़े कर ले. इसके बाद उन्होंने अपने बॉडीगार्ड अजीत से बात की. हम दोनों दरवाजे तोड़ने को तैयार हुए. 

इससे पहले रिम्स ने पीपीई किट उपलब्ध कराई. दरवाजे तोड़ने के वक्त हम पूरी तरह किट के अंदर थे. 

उन पलों में आपके जेहन में क्या कुछ चल रहा था, इस सवाल पर महथा कहते हैं, ''पुलिस का कर्तव्य था, उसे हमने निभाया. कई मौके आते हैं जब हमें आगे बढ़ना ही पड़ता है. इसे आप हमारी ड्यूटी भी कह सकते हैं.'' 

उन्होंने बताया कि मरीज का वेश साधु का है . इस बीच मरीज ने अन्न जल भी त्याग दिया है. इससे इलाज करने वाले अलग परेशान हैं.

रिम्स प्रबंधन से कहा गया है कि इस तरह के मामलों में वह सतर्कता बरते, ताकि कोई बड़ा हादसा नहीं हो. 

उन्होंने कहा कि दरवाजा तोड़ने के बाद मरीज के शरीर मे हलचल होने से समझ में आया कि अभी वह जिंदा है. दरवाजा तोड़ने के बाद वार्ड से बाहर निकलकर हमने अपना किट उतारा. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान
मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान
भारत निश्चित ही अपनी आर्थिक वृद्धि फिर से हासिल करेगा, सुधारों से मिलेगी मदद: पीएम मोदी
भारत निश्चित ही अपनी आर्थिक वृद्धि फिर से हासिल करेगा, सुधारों से मिलेगी मदद: पीएम मोदी
सुर्ख़ियों में 12 साल की बच्ची निहारिका: बचाए पैसे से तीन मजदूरों को वापस झारखंड भेजा
सुर्ख़ियों में 12 साल की बच्ची निहारिका: बचाए पैसे से तीन मजदूरों को वापस झारखंड भेजा
झारखंड के लिए 2 समेत राज्य सभा की 18 सीटों पर 19 जून को होगा चुनाव, सरगर्मी तेज
झारखंड के लिए 2 समेत राज्य सभा की 18 सीटों पर 19 जून को होगा चुनाव, सरगर्मी तेज
जल संसाधन विभाग में पिछले तीन साल के सभी टेंडरों की जांच होगी, हेमंत ने दिए आदेश
जल संसाधन विभाग में पिछले तीन साल के सभी टेंडरों की जांच होगी, हेमंत ने दिए आदेश
मशहूर संगीतकार 42 साल के वाजिद खान नहीं रहे, साजिद-वाजिद की जोड़ी हुई अधूरी
मशहूर संगीतकार 42 साल के वाजिद खान नहीं रहे, साजिद-वाजिद की जोड़ी हुई अधूरी
मानसून ने केरल में दी दस्तक, अब मौसम बारिश वाला
मानसून ने केरल में दी दस्तक, अब मौसम बारिश वाला
क्या लॉकडाउन की परवाह नहीं करतीं कांग्रेस विधायक अंबा, केरेडारी की सभा में भीड़ से उठते सवाल
क्या लॉकडाउन की परवाह नहीं करतीं कांग्रेस विधायक अंबा, केरेडारी की सभा में भीड़ से उठते सवाल
चक्रधरपुरः सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सली हमले में एसडीपीओ का बॉडीगार्ड शहीद, एक एसपीओ की भी मौत
चक्रधरपुरः सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सली हमले में एसडीपीओ का बॉडीगार्ड शहीद, एक एसपीओ की भी मौत
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद

Stay Connected

Facebook Google twitter