छत्तीसगढ़ नक्सली हिंसाः जवान की रिहाई के लिए सरकार से वार्ता करने को माओवादी तैयार

छत्तीसगढ़ नक्सली हिंसाः जवान की रिहाई के लिए सरकार से वार्ता करने को माओवादी तैयार
Courtesy-ANI
पीबी ब्यूरो ,   Apr 07, 2021

माओवादियों ने ठछत्तीसगढ़ में बीजापुर-सुकमा बॉर्डर पर हुए हमले और एक जवान की रिहाई के लिए सरकार से बातचीत की पेशकश की है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार माओवादियों ने एक प्रेस नोट जारी कर कहा है, “बीजापुर हमले में सुरक्षाबलों के 24 जवानों की जान गई. 31 जवान घायल हुए. 1 जवान हमारी हिरासत में है. इस मुठभेड़ में पीपुल्स लिब्रेशन गुरिल्ला आर्मी के 4 जवानों की भी जान गई. इस घटना पर हम सरकार से बातचीत को तैयार हैं. वो मध्यस्थों की घोषणा कर सकते हैं. बातचीत के बाद हम उस जवान को रिहा कर देंगे.”

इस प्रेस नोट में माओवादियों ने लिखा है कि आम पुलिसवाले हमारे दुश्मन नहीं हैं और घटना में मारे गये पुलिसवालों के परिजनों को हम खेद प्रकट करते हैं.

माओवादियों ने इस वक्तव्य में लिखा है कि पुलिस बल के 2000 से ज़्यादा जवान सुकमा और बीजापुर ज़िलों के गाँवों पर हमला करने आये थे, जिसकी योजना अमित शाह के नेतृत्व में बनायी गई थी.

माओवादियों के अनुसार, नवंबर 2020 में शुरू हुए इस सैन्य अभियान में 150 से ज़्यादा ग्रामीणों की हत्या की गई जिसमें कुछ हमारे पार्टी कार्यकर्ता और नेता भी थे.

इसे भी पढ़ें: राहुल ने हर उम्र के लोगों के लिए टीके की पैरवी की, बोले, हर भारतीय सुरक्षित जीवन का हकदार

नोट के अंत में माओवादियों ने लिखा है कि मोदी-शाह भले ही कितने भारी हत्याकाण्ड की योजना बना लें, हम उन सभी योजनाओं का जनयुद्ध के माध्यम से मुँहतोड़ जवाब देंगे.

इस नक्सली हमले में सीआरपीएफ़ के 22 जवान मारे गए थे और 32 घायल हैं. लेकिन सीआरपीएफ़ का एक जवान अब भी लापता है.

लापता जवान की पहचान राकेश्वर सिंह मनहास के नाम से हुई है जो जम्मू कश्मीर के एक गांव के रहने वाले हैं. 

राकेश्वर सिंह साल 2011 में सीआरपीएफ़ में भर्ती हुए थे.

इससे पहले उनके पिता जगतार सिंह भी सीआरपीएफ में ही थे.

राकेश्वर सिंह सुरक्षा बलों के उस अभियान दल में शामिल थे जो इसी शनिवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर-सुकमा के जंगलों में नक्सलियों की खोज में निकला था.

राकेश के परिजनों ने सरकार से मांग की है कि जवान की सकुशल रिहाई के लिए आवश्यक कदम उठाएं. साथ ही माओवादियों से अपील भी की है कि वे उन्हें छोड़ दें. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े,  राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े, राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी

Stay Connected

Facebook Google twitter