झारखंड की चामी मुर्मू को नारी शक्ति पुरस्कार, महिला सशक्तिकरण और पर्यावरण से है अथाह मोहब्बत

झारखंड की चामी मुर्मू को नारी शक्ति पुरस्कार, महिला सशक्तिकरण और पर्यावरण से है अथाह मोहब्बत
Twitter
पीबी ब्यूरो ,   Mar 08, 2020

झारखंड में खरसावां जिले के राजनगर की आदिवासी महिला चामी मुर्मू को आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा है.

राष्ट्रपति ने पुरस्कार के रूप में चामी मुर्मू को दो लाख रुपए व प्रशस्ति पत्र प्रदान किया. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और स्मृति इरानी भी मौजूद थीं. 

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आज राष्ट्रपति भवन के सांस्कृतिक केंद्र (आरबीसीसी) में आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति ने विभिन्न क्षेत्रों में अतुलनीय काम करने वाली महिलाओं को नारी शक्ति पुरस्कार प्रदान किए. इनमें चामी मुर्मू भी शामिल थीं. यह पुरस्कार मिलने पर उन्हें बधाइयों का तांता लगा है.  

47 साल की चामी मर्मू का पर्यावरण संरक्षण और महिला सशक्तिकरण के लिए पिछले 25 सालों से समर्पण भाव से काम करती रही हैं. अभी वे राजनगर प्रखंड भाग -16 की जिला परिषद सदस्य भी हैं. 

इसे भी पढ़ें: यस बैंकः राणा कपूर की पत्नी और बेटी के खिलाफ सीबीआई ने रिश्वतखोरी का मामला दर्ज किया

साथ ही राजनगर में महिला संगठन सहयोगी की वे प्रमुख भी हैं. चामी मुर्मू ने इस सम्मान के लिए उन सभी महिलाओं का आभार प्रकट किया है, जो उनकी मुहिम से जुड़ी हैं.

उन्होंने पहली प्रतक्रिया में कहा है, महिला दिवस पर यह सम्मान सभी महिलाओं के लिए गौरवान्वित करने वाला है. साथ ही लीक से हटकर काम करने के लिए प्रेरित भी करेगा. 

चामी मुर्मू ने लगभग 25 लाख पेड़ लगाए जाने में अहम भूमिका निभाई है. साथ ही वन एवं पर्यावरण विभाग समेत सरकार के अन्य विभागों से लगभग तीन हजार महिलाओं को जोड़ा है.

महिलाओं को आजीविका से जोड़ने में भी उन्होंने की महत्वपूर्ण काम किए हैं. साथ ही महिलाओं को सशक्त करने की कई योजनाओं से जुड़ी हैं. 

चामी मुर्मू के ये काम बहुत आसान भी नहीं थे, पर उन्होंने हिम्मत के साथ संघर्ष जारी रखा. कई बार खतरों का सामना करना पड़ा, पर वे डरी नहीं. 

चामी मुर्मू को आदिवासी इलाके में लेडी टारजन के नाम भी जाना जाता है. तथा पर्यावरण संरक्षण एवं महिलाओं को सशक्त करने का बीड़ा उन्होंने तब उठाया, जब महिलाएं देहरी से बाहर निकलने में संकुचाती थीं. गांवों की महिलाएं सामाजिक रूप से कई बेड़ियों में बंधी महसूस करती थीं.

लेकिन चामी ने महिलाओं को आजीविका से जोड़ा और घूंघट से बाहर निकाला. 

वे गांव-गांव घूमकर महिलाओं को जागरूक करती रहीं. लोगों को पर्यावरण के महत्त्व बताती, बंजर भूमि को हरियाली में बदलने की कोशिश करती रहीं. आंगनबाड़ी कैसे ठीक काम करे इस दिशा में भी वे सक्रिय रही हैं. 

इससे पहले 1996 में उन्हें केंद्रीय वन एवं पर्यावरण विभाग ने इंदिरा प्रियदर्शिनी वृक्ष मित्र अवार्ड से सम्मानित किया था. जबकि इस बार पर्यावरण संरक्षण तथा महिला सशक्तिकरण की दिशा में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार ने नारी शक्ति पुरस्कार-2019 के लिए चयनित किया. 

इसे भी पढ़ें: जेवीएम का बीजेपी में विलय पर चुनाव आयोग की मुहर, पर स्पीकर ने अब तक नहीं माना है

गौरतलब है कि महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा गठित नारी शक्ति पुरस्कार राष्ट्रीय पुरस्कार हैं, जिन्हें प्रत्येक वर्ष 8 मार्च को महिला सशक्तिकरण की दिशा में असाधारण योगदान और विशिष्ट कार्य को मान्यता देने के लिए प्रदान किया जाता है.

इसके साथ-साथ यह उन महिला शक्ति को सम्मान और पहचान देने का भी प्रतीक है, जिन्होंने महिला सशक्तिकरण की दिशा में विशिष्ट भूमिका निभाई है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

चाईबासाः नैहर में थी आदिवासी महिला, पति बीमार पड़े, तो साइकिल से नाप ली 50 किमी दूरी
चाईबासाः नैहर में थी आदिवासी महिला, पति बीमार पड़े, तो साइकिल से नाप ली 50 किमी दूरी
अच्छी पहलः ओडिशा ने 500 एमबीबीएस छात्रों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया
अच्छी पहलः ओडिशा ने 500 एमबीबीएस छात्रों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया
कोरोना रोका जा सके, इसके लिए छत्तीसगढ़ के जेलों से छोड़े गए 584 कैदी
कोरोना रोका जा सके, इसके लिए छत्तीसगढ़ के जेलों से छोड़े गए 584 कैदी
कोरोना का कहर, देश में संक्रमण के 2,902 मामले, मरने वालों की संख्या 68 हुई
कोरोना का कहर, देश में संक्रमण के 2,902 मामले, मरने वालों की संख्या 68 हुई
2 दिन में तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले जबकि 24 घंटों में 12 मरीजों की मौत
2 दिन में तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले जबकि 24 घंटों में 12 मरीजों की मौत
नर्सों से अभद्रता करने वाले तबलीगी जमात के लोगों पर लगेगा रासुका, छोड़ेंगे नहींः योगी आदित्यनाथ
नर्सों से अभद्रता करने वाले तबलीगी जमात के लोगों पर लगेगा रासुका, छोड़ेंगे नहींः योगी आदित्यनाथ
पीएम मोदी ने राज्यों से कहा, अगले कुछ हफ्तों में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और क्वारंटाइन पर रहे जोर
पीएम मोदी ने राज्यों से कहा, अगले कुछ हफ्तों में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और क्वारंटाइन पर रहे जोर
 धार्मिक स्थानों पर जमा होकर अव्यवस्था पैदा करने का यह वक्त नहीं है : ए आर रहमान
धार्मिक स्थानों पर जमा होकर अव्यवस्था पैदा करने का यह वक्त नहीं है : ए आर रहमान
देश में पांव पसारता कोरोना, संक्रमण के 1965 मामले, मरने वालों की संख्या 50
देश में पांव पसारता कोरोना, संक्रमण के 1965 मामले, मरने वालों की संख्या 50
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया

Stay Connected

Facebook Google twitter