चाईबासा नरसंहारः राज्यपाल से पीड़ित परिवारों ने किया दर्द साझा, फिर हत्या की धमकी दे रहे पत्थलगड़ी समर्थक

चाईबासा नरसंहारः राज्यपाल से पीड़ित परिवारों ने किया दर्द साझा, फिर हत्या की धमकी दे रहे पत्थलगड़ी समर्थक
पीबी ब्यूरो ,   Feb 12, 2020

झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मु्र्मू ने चाईबासा के बुरुगुलीकेरा गांव में सात आदिवासियों की हत्या के मामले को गंभीरता से लिया है. पीड़ित परिवारों ने फिर से हत्या की आशंका जताई है.

राज्यपाल से दुख साझा करते हुए गांव के लोगों ने पत्थलगड़ी समर्थकों पर प्रतिबंध लगाने की मांग के साथ मुआवजा दिलाने की मांग की.

पीड़ित परिवारों की महिलाओं ने राज्यपाल को बताया कि प्रशासन द्वारा जो मदद की जा रही है वह नाकाफी है. उन्हें फिर से डराया जा रहा है.  

मंगलवार को राज्यपाल चाईबासा के सुदूर बुरुगुलीकेरा गांव पहुंची थी. नरसंहार में मारे गये लोगों के परिवारों से उन्होंने मुलाकात की. उन्होंने आदिवासी भाषा में लोगों से बातें की और पुलिस, प्रशासन के अधिकारियों से भी घटना की जानकारी ली. 

गौरतलब है कि बीते जनवरी महीने में इस गांव के उपमुखिया जेम्स बूढ़ समेत सात आदिवासियों की हत्या कर दी गई थी. 19 जनवरी को ग्राम सभा की बैठक से उनका अगवा कर लिया गया था. फिर जंगल में ले जाकर नृशंस ढंग से हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने 22 जनवरी को जंगल से लाशें बरामद की थी. जिन लोगों की हत्या की गई वे कथित तौर पर पत्थलगड़ी समर्थकों के फरमान मानने से इंकार कर रह थे. 

इसे भी पढ़ें: जेल में बंद लालू का तराना, 'तेरे दर पर सनम चले आए, तू ना आया तो हम चले आए'

पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद राज्यपाल ने इस नरंसहार पर दुख जताया और कहा कि यहां के लोग भयभीत हैं. भेड़- बकरी की तरह लोगों को काटा गया. 

मृतक उपमुखिया जेम्स बूढ़ के बड़े भाई नाथूराम ने राज्यपाल से 25 लाख मुआवजा राशि दिलाने की मांग की. उन्होंने राज्यपाल को बताया कि इस घटना के बाद पूरा परिवार बेसहारा हो गया है.

राज्यपाल ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि इस मामले में वे सरकार से बात करेंगी. गांव के ही मरगा राम मुंडा ने राज्यपाल को बताया कि पत्थलगड़ी समर्थक फिर सात लोगों की हत्या करने की धमकी दे रहे हैं. जो लोग पत्थलगड़ी समर्थकों की बात नहीं मानते हैं, उन्हें ही धमकी दी जाती है. 

ग्रामीणों ने बताया कि इससे पहले भी सरकारी सुविधा नहीं लेने को लेकर पत्थलगड़ी समर्थक लगातार गांव वालों पर दबाव बनाते थे. जिसका उप मुखिया समेत अन्य लोग विरोध करते थे, जो मारे गए. 

ग्रामीणों से बातचीत के बाद राज्यपाल ने मौके पर उपस्थित जिले के अधिकारियों को को ग्रामीणों की सुरक्षा के साथ आवश्यक सुविधा मुहैया कराने के भी निर्देश दिए.

वहीं, राज्‍यपाल के दौरे को लेकर नक्सल प्रभावित इलाका होने के कारण सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

लाल किले से पीएम मोदी के भाषण की ये 10 बड़ी और अहम बातें जानिए
लाल किले से पीएम मोदी के भाषण की ये 10 बड़ी और अहम बातें जानिए
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
शहरी क्षेत्रो में 'सीएम श्रमिक योजना', हेमंत बोले, निबंधन के 15 दिनों में रोजगार अन्यथा बेरोजगारी भत्ता
शहरी क्षेत्रो में 'सीएम श्रमिक योजना', हेमंत बोले, निबंधन के 15 दिनों में रोजगार अन्यथा बेरोजगारी भत्ता
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
हेमंत बोले, झारखंड की स्थानीय नीति सवालों के घेरे में, हम देख रहे हैं कि क्या बदलाव किया जाए
हेमंत बोले, झारखंड की स्थानीय नीति सवालों के घेरे में, हम देख रहे हैं कि क्या बदलाव किया जाए
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’

Stay Connected

Facebook Google twitter