चाईबासाः स्कूल का खाना खाकर बीमार पड़ीं कस्तूरबा की 300 लड़कियां, 70 अस्पताल में भर्ती, जांच के आदेश

चाईबासाः स्कूल का खाना खाकर बीमार पड़ीं कस्तूरबा की 300 लड़कियां, 70 अस्पताल में भर्ती, जांच के आदेश
Photo- Sudam Pradhan
पीबी ब्यूरो ,   Feb 14, 2020

झारखंड के चाईबासा में कस्तूरबा आवासीय स्कूल में करीब तीन सौ लड़कियां बीमार पड़ गई हैं. चाईबासा के उपायुक्त अरवा राजकमल ने बताया है कि इस घटना की जांच का आदेश दिया गया है.

उन्होंने बताया कि अभी लड़कियों की चिकित्सा प्राथमिकता है. 70 लड़कियों का इलाज अस्पताल में चल रहा है. इसके अलावा स्कूल में भी डॉक्टरों की टीम भेजी गई है. 

उन्होंने बताया कि अस्पताल में अलग से चार चिकित्सकों की टीम तैनात की गई है. साथ ही सिविल सार्जन तथा नर्सों को आवश्यक निर्देश दिए हैं. 

गुरुवार की रात छात्रावास में जो खाना परोसा गया था, उसके बाद से ही लड़कियां बीमार पड़ने लगी. चिकित्सकों ने बताया है कि लड़कियां फूड प्वाइजनिंग की शिकार हुई हैं.

इसे भी पढ़ें: लालू की जमानत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची सीबीआई, कोर्ट ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब

उपायुक्त ने अस्पताल पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया है. उनका कहना है कि इलाजरत लड़कियां खतरे से बाहर हैं. 

अस्पताल से वह कस्तूरबा स्कूल गए और वहां भी बीमार बच्चियों की सेहत की जानकारी ली. उपायुक्त ने कहा कि मामला गंभीर है. इसकी जांच कराई जा रही है. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी. 

छात्राओं के बीमार पड़ने की खबर सुनते ही उनके अभिभावक और रिश्तेदार सदर अस्पताल पहुंच गए हैं.

जबकि बड़ी संख्या में बीमार लड़कियों के अस्पताल में भर्ती होने से चिकित्सा व्यवस्था संभालने में भी अस्पताल कर्मियों को मशक्कत करनी पड़ी.

काफी देर तक अफरा-तफरी का माहौल बना रहा. बेड कम पड़े और एक बेड़ पर तीन- चार लड़कियों का इलाज किया जाता रहा. हालांकि नर्सों ने हालात को गंभीरता से संभालने की कोशिशें की. 

इधर स्कूल में कम से कम डेढ़ सौ लड़कियों की जांच कर दवाई दी गई है. जबकि दसवीं की परीक्षा देने वाली बीस लड़कियों का इलाज परीक्षा केंद्र पर ही किया गया. 

लड़कियों ने शिकायत की है कि रात में आलू गोभी की सब्जी, दाल के सात बासी भात परोसा गया था. कई लड़कियों ने खाना नहीं खाया. जबकि अधिकतर लड़कियों ने खाना खाया.

रात बारह बजे के बाद कई लड़कियां उल्टी करने लगी. फिर देखते ही देखते छात्रावास के हर कमरे में लड़कियां बीमार पड़ने लगीं. सुबह हालात बेकाबू होता देख उन्हें अस्पताल ले जाया गया. 

हालात की गंभीरता को देखते हुए कौशल नर्सिंग कॉलेज की छात्राएं, कई सामाजिक कार्यकर्ता स्कूल और अस्पताल पहुंचे और बीमार लड़कियों की सेवा में जुटे.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

पीएम मोदी से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, सीएए से डरने की जरूरत नहीं
पीएम मोदी से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, सीएए से डरने की जरूरत नहीं
ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाली युवती भेजी गई न्यायिक हिरासत में
ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाली युवती भेजी गई न्यायिक हिरासत में
शिव के बारे में शंकर से अधिक कौन जानता है
शिव के बारे में शंकर से अधिक कौन जानता है
राम मंदिर ट्रस्ट ने पीएम मोदी को अयोध्या आने का दिया निमंत्रण, अप्रैल में रामोत्सव
राम मंदिर ट्रस्ट ने पीएम मोदी को अयोध्या आने का दिया निमंत्रण, अप्रैल में रामोत्सव
फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाने पर चिदंबरम बोले, यह सबसे बड़ा किसान विरोधी कदम
फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाने पर चिदंबरम बोले, यह सबसे बड़ा किसान विरोधी कदम
 राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठकः नृत्य गोपालदास अध्यक्ष, चंपत राय बने महासचिव, नृपेन्द्र मिश्रा भी शामिल
राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठकः नृत्य गोपालदास अध्यक्ष, चंपत राय बने महासचिव, नृपेन्द्र मिश्रा भी शामिल
झारखंडः मारी गई खेती, राशन भी था बंद, किसान ने ट्रेन से कट कर दी जान, अफसर पहुंचे दरवाजे पर
झारखंडः मारी गई खेती, राशन भी था बंद, किसान ने ट्रेन से कट कर दी जान, अफसर पहुंचे दरवाजे पर
शुरु हुआ ईटखोरी महोत्सव, हेमंत ने कहा, सिर्फ खनिज नहीं धर्म स्थल भी हैं झारखंड की पहचान
शुरु हुआ ईटखोरी महोत्सव, हेमंत ने कहा, सिर्फ खनिज नहीं धर्म स्थल भी हैं झारखंड की पहचान
खूंटी से 27 किलो अफीम लेकर बंगाल जा रहा था तस्कर, पाकुड़ में धराया
खूंटी से 27 किलो अफीम लेकर बंगाल जा रहा था तस्कर, पाकुड़ में धराया
शाहीन बाग़: हल निकालने पहुंचे वार्ताकार, कहा, प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं हो
शाहीन बाग़: हल निकालने पहुंचे वार्ताकार, कहा, प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं हो

Stay Connected

Facebook Google twitter