बोकारो थर्मलः बैटरी चोरी के आरोपी को भीड़ ने पीट कर मार डाला

 बोकारो थर्मलः बैटरी चोरी के आरोपी को भीड़ ने पीट कर मार डाला
पीबी ब्यूरो ,   Nov 06, 2019

झारखंड में बोकारो थर्मल थाना क्षेत्र के गोविंदपुर में बैटरी चोरी के आरोप में दो लोगों की जमकर पिटाई की गई. इस घटना में मुबारक अंसारी नामक एक व्यक्ति की मौत हो गई है. जबकि अख्तर अंसारी का अस्पताल में इलाज चल रहा है. 

बोकारो थर्मल थाना के इंस्पेक्टर उमेश कुमार ठाकुर ने बताया है कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज किए जाने की कार्रवाई चल रही है. पांच लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. साथ ही शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. 

पुलिस अधिकारी के मुताबिक घायल व्यक्ति अख्तर अंसारी का बयान भी लिया गया है. तफ्तीश में ये बातें सामने आ रही है कि बैटरी चोरी कर ले जाते दोनों लोगों को मंगलवार की देर रात गोविंदपुर बस्ती के लोगों ने पकड़ा और पिटाई की. पूरे मामले में जांच चल रही है.

हिरासत में लिये गये लोगों में प्रेमचंद महतो, नैना देवी, कुंदन महतो, नंदन महतो तथा हेमलाल महतो शामिल हैं. 

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के मुताबिर गोविंदपुर बस्ती निवासी प्रेमचंद महतो उनके पुत्र कुंदन महतो एवं नंदन महतो गाड़ियों की धुलाई के लिए सर्विसिंग सेंटर चलाते हैं. हफ्ता भर पहले भी सर्विसिंग सेंटर से टूल्लू पंप सहित पाइप की चोरी हुई थी. 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी छोड़ जेएमएम में शामिल हुए समीर मोहंती, क्या बहरागोड़ा में कुणाल षाड़ंगी की नींद उड़ाएंगे

मंगलवार की रात लगभग दो बजे प्रेमचंद महतो की पत्नी नैना देवी सर्विसिंग सेंटर से दो लोगों को वाहन की बैट्री चुराकर लेकर जाते देखकर शोच मचाना शुरू किया. घर के सभी लोग जग गए और चोरी के आरोपियों को दौड़ाकर पकड़ लिया. इसके बाद उन्हें बिजली के पोल से बांध दिया.

शोर सुनकर बस्ती के लोग भी जुट गए. भीड़ ने दोनों की खूब पिटाई की.  मुबारक अंसारी और अख्तर अंसारी पास के नई बस्ती के रहने वाले हैं. आज तड़के मार्निंग वाक पर निकले लोगों में से किसी ने घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी. 

पुलिल तत्काल घटना स्थल पर पहुंची और मुबारक अंसारी एवं अख्तर अंसारी को लेकर इलाज के लिए डीवीसी अस्पताल पहुंची. लेकिन अस्पताल ले जाने के दौरान ही मुबारक अंसारी ने दम तोड़ दिया. जबकि गंभीर रूप से घायल अख्तर अंसारी का इलाज चल रहा है. 

पुलिस के मुताबिक अस्पताल में भरती अख्तर अंसारी ने बताया है कि वे दोनों बैटरी लेकर जा रहे थे, उसी दौरान पकड़े गये और भीड़ ने उनके साथ बुरे तरीके से मारपीट की. 

जबकि मृतक के परिजनों का कहना है कि मुबारक अंसारी दिहाड़ी मजदूरी करता था. मंगलवार की रात लगभग 11 बजे वह गांव के अख्तर अंसारी को लेकर धान खेत  देखने गया था. क्योंकि हमेशा जानवर घुस कर फसलों को नुकसान पहुंचा रहे थे. धान खेत के बगल में ही गोबिंदपुर बस्ती और वह सर्विसिंग सेंटर है. खेत से लौटते दोनों लोगों ने पकड़ लिया. फिर नाम पता पूछा और चोरी का आरोप लगाकर पिटाई करने लगे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

पंचतत्व में विलीन हुए बेरमो विधायक और मजदूरों के नेता राजेंद्र बाबू
पंचतत्व में विलीन हुए बेरमो विधायक और मजदूरों के नेता राजेंद्र बाबू
लॉकडाउन विफल रहा, अब आगे की रणनीति बताएं पीएम मोदीः राहुल गांधी
लॉकडाउन विफल रहा, अब आगे की रणनीति बताएं पीएम मोदीः राहुल गांधी
 अब उत्तर प्रदेश का मजदूर दुनिया में जहां भी होगा सरकार उसके साथ खड़ी रहेगी : योगी आदित्यनाथ
अब उत्तर प्रदेश का मजदूर दुनिया में जहां भी होगा सरकार उसके साथ खड़ी रहेगी : योगी आदित्यनाथ
कोरोना का कहरः दुनिया के टॉप 10 देशों में भारत भी शामिल
कोरोना का कहरः दुनिया के टॉप 10 देशों में भारत भी शामिल
चाईबासा के प्रवासी आदिवासी की मौत, लाश पड़ी है वर्धा अस्पताल में, गम में डूबे हैं 15 मजदूर साथी
चाईबासा के प्रवासी आदिवासी की मौत, लाश पड़ी है वर्धा अस्पताल में, गम में डूबे हैं 15 मजदूर साथी
'अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, हम इसे तुरंत समाप्त नहीं कर सकते'
'अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, हम इसे तुरंत समाप्त नहीं कर सकते'
देश में 4 करोड़ प्रवासी मजदूर, अब तक 75 लाख घर लौटें हैं :गृह मंत्रालय
देश में 4 करोड़ प्रवासी मजदूर, अब तक 75 लाख घर लौटें हैं :गृह मंत्रालय
लॉकडाउन में किसानों की क्या मदद की गई और कर्जमाफी से क्यों मुंह मोड़ रही सरकारः सुदेश
लॉकडाउन में किसानों की क्या मदद की गई और कर्जमाफी से क्यों मुंह मोड़ रही सरकारः सुदेश
बोकारोः गांव की महिलाओं ने एक महिला को बेरहमी से पीटा, बाल काटे, खींचकर कपड़े खोले, 11 गिरफ्तार
बोकारोः गांव की महिलाओं ने एक महिला को बेरहमी से पीटा, बाल काटे, खींचकर कपड़े खोले, 11 गिरफ्तार
70 हजार भाड़ा देकर मुंबई से लौटे 7 मजदूर, बाबूलाल बोले, 'हेमंत जी, अफसर आपको सच बताते नहीं'
70 हजार भाड़ा देकर मुंबई से लौटे 7 मजदूर, बाबूलाल बोले, 'हेमंत जी, अफसर आपको सच बताते नहीं'

Stay Connected

Facebook Google twitter