सरकार बचाने के लिए बीजेपी के दबाव में लिया फैसलाः प्रदीप यादव

 सरकार बचाने के लिए बीजेपी के दबाव में लिया फैसलाः प्रदीप यादव
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Feb 20, 2019

झारखंड विकास के विधायक प्रदीप यादव ने कहा है कि दल-बदल के मामले में स्पीकर के फैसले को वेलोग में उच्च न्यायालय में चुनौती देंगे. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सरकार बचाने के लिए इस तरह के फैसले के लिए विधानसभा अध्यक्ष पर दबाव बनाया है. लेकिन इस फैसले से झारखंड की जगहंसाई होगी. 

प्रदीप यादव का कहना है कि यह फैसला दसवीं अनुसूचि की भावना के खिलाफ है. प्रदीप यादव का दावा है कि दसवीं अनुसूचि में यह स्पष्ट है कि किसी पार्टी का पूर्णतया विलय हो. लेकिन इस मामले में तो जेवीएम के छह विधायक बी बीजेपी में गए. वो भी अलग- अलग तारीखों पर. तब दो तिहाई के साथ विधायकों का मर्जर भी नहीं माना जाना चाहिए. इसके बाद भी विधानसभा अध्यक्ष ने पूरी पार्टी का विलय मान लिया. उन्होंने कहा कि यह फैसला लोकतंत्र के साथ भद्दा मजाक है. 

इस बीच झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय महासचिव बंधु तिर्की ने कहा है कि स्पीकर का फैसला लोकतंत्र का गला घोंटने जैसा है. स्पीकर ने जरूर सत्ता के दबाव में यह फैसला लिया है. जबकि उन्हें अंतर्रात्मा की आवाज से फैसला लेना था. 

इधर झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने भी इस फैसले पर कहा है कि बीजेपी की सरकार में छह विधायक शामिल हुए थे. जाहिर है फैसला यही आना था. लेकिन कोर्ट में जब फैसले को चुनौती दी जाएगी, तो उन विधायकों की सदस्यता जाती रहेगी. 

कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश ठाकुर ने भी स्पीकर के फैसले पर नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा कि यह न्यायप्रिय फैसला नहीं है. 

इसे भी पढ़ें: पुलवामा में हुए हमले के बाद भी पीएम मोदी शूटिंग में व्यस्त थेः कांग्रेस

मतदाता की जीत 

इस बीच मंत्री अमर बाउरी ने स्पीकर के फैसले को न्याय की जीत बताया है. उन्होंने कहा कि यह मतदाता, कार्यकर्ता की भी जीत है. जानकी यादव ने कहा है कि विकास को सामने रखते हुए पार्टी का बीजेपी में विलय के फैसले को जायज ठहराने के बाद सब कुछ साफ हो गया है. उन्होंने कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष के कोर्ट के इस फैसले का वेलोग स्वागत करते हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा

Stay Connected

Facebook Google twitter