बीजेपी चाहती है कि मैं वापस हो जाऊं, पर अभी तय नहीं किया हैः बाबूलाल मरांडी

बीजेपी चाहती है कि मैं वापस हो जाऊं, पर अभी तय नहीं किया हैः बाबूलाल मरांडी
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Jan 16, 2020

झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी विदेश दौरे से वापस हो गए हैं. रांची आने पर मीडिया के लोग बाबूलाल मरांडी के पास पहुंचे और बीजेपी में जाने की अटकलों पर उन्हें काफी कुरेदने की कोशिशें की. सवालों के जवाब में बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पहले और अब भी बीजेपी चाहती है कि मैं वापस हो जाऊं, पर अभी तय नहीं किया है. 

बाबूलाल मरांडी ने यह भी कहा, ''यह पहली दफा नहीं है. बीजेपी का सतत प्रयास है. चुनाव समाप्त के बाद भी पहल हुई है. पर हमने अपनी ओर से तय नहीं किया है. हमारे साथ पूरी पार्टी है. इस तरह का कोई काम नहीं करना चाहते, जिससे हमारे कार्यकर्ता को तकलीफ हो.  

सियासत और मीडिया में लग रही अटकलों- कयासों पर उन्होंने कहा कि अनुमान लगाए जाते रहे हैं, पर अभी कुछ सोचा नहीं है. 

गुरुवार को रांची लौटने पर बाबूलाल मरांडी से बीजेपी में जाने या पार्टी के विलय को लेकर पत्रकारों ने कई सवाल किए, पर बाबूलाल मरांडी ने सीधे तौर पर पत्ते नहीं खोले.

उन्होंने कहा, ''हम तो बाहर गए थे. सबको पता है. कल रात दिल्ली होकर ही लौटे हैं. अखबार जगत में जो चर्चा चलती हैं उसे इंज्वाय करते हैं. कौन क्या बोला इसके पीछे नहीं रहते. मनुष्य का मन चंचल होता है. मन हमेशा सोचते रहता है. मन में कई बातें चलते रहती है''.

इसे भी पढ़ें: 13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण

बाबूलाल मरांडी ने कहा, ''अभी थोड़ा क्षेत्र घूमकर आ जाते हैं. वर्ना लोग भगा देगा. एफआईआर कर देगा. एक महीने हो गए क्षेत्र गए. बहुत शौक से लोगों ने इस बार चुना है. इसलिए क्षेत्र जाना प्राथमिकता है''. 

एक सवाल के जवाब में बाबूलाल मरांडी ने कहा, ''अटकलों का दौर जारी है, तो हम क्या करें.  बीजेपी तो शुरू से कहती रही है कि हम वापस लौट जाएं, पर कुछ सोचे नहीं है'' 

गौरतलब है कि चुनाव के नजीते आने के बाद पांच जनवरी को जेवीएम की बैठक में कार्यसमिति को भंग कर दी गई है. इसके बाद से ही तेजी से अटकलें लगाई जाती रही है कि बाबूलाल मरांडी अपनी पार्टी का बीजेपी में विलय कर रहे हैं. इसे लेकर लगातार खबरें छप रही हैं और झारखंड की सियासत में बहस छिड़ी है. 

इस बार विधानसभा चुनाव में जेवीएम से बाबूलाल मरांडी के साथ प्रदीप यादव और बंधु तिर्की चुनाव जीते हैं. बाबूलाल राजधनबार सीट से चुनाव जीते हैं. 

प्रदीप यादव और बंधु तिर्की बीजेपी में पार्टी के विलय अथवा खुद के शामिल होने के पक्षधर नहीं रहे हैं. दोनों नेता लगातार कहते रहे हैं कि बाबूलाल मरांडी के मन में क्या है उन्हें ही स्पष्ट करना चाहिए. 

गु्ंजाइश क्या है, इस सवाल पर उन्होंने कहा, ''हमारी किसी से बात नहीं है. अभी कुछ नहीं बता सकते हैं. कयासों के बारे में कुछ भी नहीं सकते. अब कोई भविष्यवाणी करे, तो हम क्या करें. पार्टी की नई कार्यसमति बनेगी, तो क्या करेगी उसके बारे में भी हम क्या बताएं. अभी थोड़ा क्षेत्र घूमकर आ जाते हैं. जनता ने चुना है. हमारे लाखों कार्यकर्ता हैं झारखंड में. इसलिए ऐसे- वैसे ही कोई भी निर्णय नहीं करते. '' 

प्रदीप यादव और बंधु तिर्की बीजेपी में नहीं जाना चाहते. बंधु तिर्की कांग्रेस में जाना चाहते हैं. इन सवालों पर बाबूलाल मरांडी ने कहा, अभी किसी से कोई बात नहीं हुई है. वैसे कोई कहीं जा भी सकता है. 

हम बीजेपी में नहीं जा सकतेः प्रदीप यादव 

इधर झारखंड विकास मोर्चा विधायक दल के नेता प्रदीप यादव ने एक बार फिर कहा है कि अभी जनता ने जो जिम्मेदारी दी है, उसे निभाना है. हम विलय के विरोधी हैं. बीजेपी में नहीं जा सकते. बाबूलाल बड़े नेता हैं. उनका क्या निर्णय होगा, इसका जवाब भी हम नहीं दे सकते. इस बारे में बाबूलाल मरांडी ही बेहतर ढंग से बता सकते हैं. 

प्रदीप यादव ने कहा कि सरकार को जेवीएम ने अंदर जाकर समर्थन दिया है. दरअसल, हमारे और उनके (जेएमएम) मुद्दे एक हैं. जल, जगल जमीन के सवाल पर लड़ाई और झारखंड के नौजवानों को रोजगार दिलाना. झारखंडी हक अधिकार की बात करना. 

किसी दूसरे दल में जाएंगे, इस सवाल पर प्रदीप यादव ने कहा,  ''भी जेवीएम में हैं. इसी घर को पसंद करते हैं. आगे क्या होगा, कह नहीं सकते. दसवीं अनुसूची ( दल बदल कानून) हमें क्या इजाजत देगी. देखेंगे. अगर- मगर का उत्तर नहीं दे सकते.'' 

इसे भी पढ़ें: उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

पीएम मोदी से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, सीएए से डरने की जरूरत नहीं
पीएम मोदी से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, सीएए से डरने की जरूरत नहीं
ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाली युवती भेजी गई न्यायिक हिरासत में
ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाली युवती भेजी गई न्यायिक हिरासत में
शिव के बारे में शंकर से अधिक कौन जानता है
शिव के बारे में शंकर से अधिक कौन जानता है
राम मंदिर ट्रस्ट ने पीएम मोदी को अयोध्या आने का दिया निमंत्रण, अप्रैल में रामोत्सव
राम मंदिर ट्रस्ट ने पीएम मोदी को अयोध्या आने का दिया निमंत्रण, अप्रैल में रामोत्सव
फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाने पर चिदंबरम बोले, यह सबसे बड़ा किसान विरोधी कदम
फसल बीमा योजना को स्वैच्छिक बनाने पर चिदंबरम बोले, यह सबसे बड़ा किसान विरोधी कदम
 राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठकः नृत्य गोपालदास अध्यक्ष, चंपत राय बने महासचिव, नृपेन्द्र मिश्रा भी शामिल
राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठकः नृत्य गोपालदास अध्यक्ष, चंपत राय बने महासचिव, नृपेन्द्र मिश्रा भी शामिल
झारखंडः मारी गई खेती, राशन भी था बंद, किसान ने ट्रेन से कट कर दी जान, अफसर पहुंचे दरवाजे पर
झारखंडः मारी गई खेती, राशन भी था बंद, किसान ने ट्रेन से कट कर दी जान, अफसर पहुंचे दरवाजे पर
शुरु हुआ ईटखोरी महोत्सव, हेमंत ने कहा, सिर्फ खनिज नहीं धर्म स्थल भी हैं झारखंड की पहचान
शुरु हुआ ईटखोरी महोत्सव, हेमंत ने कहा, सिर्फ खनिज नहीं धर्म स्थल भी हैं झारखंड की पहचान
खूंटी से 27 किलो अफीम लेकर बंगाल जा रहा था तस्कर, पाकुड़ में धराया
खूंटी से 27 किलो अफीम लेकर बंगाल जा रहा था तस्कर, पाकुड़ में धराया
शाहीन बाग़: हल निकालने पहुंचे वार्ताकार, कहा, प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं हो
शाहीन बाग़: हल निकालने पहुंचे वार्ताकार, कहा, प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं हो

Stay Connected

Facebook Google twitter