बेहतरीन अभिनेता संजीव कुमार पर लिखी जा रही जीवनी अगले साल प्रकाशित होगी

बेहतरीन अभिनेता संजीव कुमार पर लिखी जा रही जीवनी अगले साल प्रकाशित होगी
पीबी ब्यूरो ,   Nov 07, 2019

लेखिका रीता गुप्ता सुप्रसिद्ध बॉलीवुड कलाकार संजीव कुमार की आधिकारिक जीवनी लिख रही हैं. इसके लिए वह संजीव कुमार के भतीजे उदय जरीवाला की सहायता ले रही हैं. गौरतलब है कि संजीव कुमार का वास्तविक नाम हरिभाई जरीवाला था. 

दस्तक, कोशिश, आंधी, शोले, मौसम और अंगूर जैसी कालजयी फिल्मों में काम करने वाले कुमार को हिंदी सिनेमा के बेहतरीन अदाकारों में से एक माना जाता है. उन्होंने अपने जीवन में बहुत से उम्रदराज चरित्र निभाए किंतु दिल की बीमारी के कारण छह नवंबर, 1985 को 47 वर्ष की आयु में उनकी मृत्यु हो गयी थी.

उदय जरीवाला ने संजीव कुमार की 34वीं पुण्यतिथि पर एक वक्तव्य में कहा, “मेरे चाचा की जीवनी बहुत पहले लिखी जानी चाहिए थी। जब रीता गुप्ता ने उनकी जीवनी लिखने के लिए संपर्क किया तो मुझे बहुत प्रसन्नता हुई.’’

उन्होंने कहा, ‘‘संजीव कुमार की कहानी सुनाई जानी चाहिए क्योंकि वह हमें बहुत जल्दी छोड़कर चले गए थे. उनके द्वारा निभाया गया आम आदमी का किरदार आज भी जीवंत है. उनकी मृत्यु के आठ साल बाद भी, वर्ष 1993 तक निर्माता उनकी फ़िल्में (कुल दस) रिलीज करते रहे थे. आज भी पूरे विश्व में बसे भारतीय उन्हें एक बेहतरीन कलाकार के रूप में देखते हैं.”

पुस्तक के अगले साल नवंबर में संजीव कुमार की 35वीं पुण्यतिथि पर बाजार में आने की उम्मीद है. गुप्ता ने कहा कि कुमार की कहानी पुस्तक के रूप में ही नहीं बल्कि फिल्म या वेब शृंखला के रूप में भी आनी चाहिए. रीता गुप्ता की यह तीसरी पुस्तक है.

इसे भी पढ़ें: नाबालिग नौकरानी पर जुल्म मामले में बड़कागांव बीडीओ और पत्नी की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज

इससे पहले उन्होंने रूपा से प्रकाशित राकेश ओमप्रकाश मेहरा की आधिकारिक जीवनी भी लिखी है.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन
अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान हटाना ‘ऐतिहासिक कदम’ : सेना प्रमुख
अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान हटाना ‘ऐतिहासिक कदम’ : सेना प्रमुख
स्थानीयता को लेकर खतियान के चक्कर में ही कुर्सी गंवा चुके हैं बाबूलाल मरांडीः निशिकांत दुबे
स्थानीयता को लेकर खतियान के चक्कर में ही कुर्सी गंवा चुके हैं बाबूलाल मरांडीः निशिकांत दुबे

Stay Connected

Facebook Google twitter