झामुमो विधायक बसंत ने कार्यकर्ताओं से कहा- अफसर नहीं सुनते, तो आप जूते-चप्पल क्यों नहीं चलाते

झामुमो विधायक बसंत ने कार्यकर्ताओं से कहा- अफसर नहीं सुनते, तो आप जूते-चप्पल क्यों नहीं चलाते
पीबी ब्यूरो ,   Jan 25, 2021

झारखंड की उपराजधानी दुमका में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा की प्रमंडलीय समति की बैठक में विधायक बसंत सोरेन थानेदार, बीडीओ, सीओ के कारनामे सुनने के बाद बरस पड़े.

कार्यकर्ताओं की शिकायत सुनने पर उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मौजूदगी में तल्ख लहजे में कहा- ''थनेदार, बीडीओ और सीओ आपकी नहीं सुनते, और अफसोस है कि आप उन अफसरों पर जूते- चप्पल भी नहीं चला सकते''

बसंत सोरेन जब गुस्साए मूड में कार्यकर्ताओं और जिला अध्यक्षों से यह सब कह रहे थे, तो उनके भाई और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी बगल में बैठे थे.

साथ ही झामुमो के सांसद विजय हांसदा, वरिष्ठ विधायक नलिन सोरेन, लोबिनं हेंब्रम, झारखंड विधानसभा के पूर्व स्पीकर शशांक शेखर भोक्ता भी एक ही कतार में बैठे थे. 

इस दौरान मुख्यमंत्री कागज पर कुछ नोट करते नजर आ रहे थे. 

इसे भी पढ़ें: रांची के मोरहाबादी मैदान में राज्यपाल ने किया ध्वजारोहण, कहा, रोजगार देना सरकार की प्राथमिकता

गुस्साए बसंत सोरेन के भाषण का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

साथ ही प्रमुख विपक्षी दल भाजपा के कई नेताओं ने टीका- टिप्पणी करने लगे हैं. 

बसंत सोरेन दुमका से झामुमो के विधायक हैं. इधर सोमवार को ही झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दुमका पहुंचे हैं. 26 जनवरी को वे उपराजधानी में झंडा फहराएंगे और परेड की सलामी लेंगे. 

दुमका पहुंचने के बाद वे कार्यक्रम में शामिल हुए. पतना में अपने विधानसभा बरहेट की जनता की समस्याओं को सुना. दुमका में भी आम लोगों से मिले और समस्याओं को जाना. 

इस बीच दुमका क्लब में झामुमो प्रमंडलीय समिति की बैठक रखी गई थी.

इसमें संताल परगना के सभी जिलो के प्रमुख नेता, कार्यकर्ता मौजूद थे. इस बैठक मे दो फरवरी को पार्टी का स्थापना दिवस समारोह को लेकर भी चर्चा की गई. 

इस दौरान जामताड़ा जिला से पार्टी के अध्यक्ष ने शिकायत सुनाई कि थानेदार, बीडीओ, सीओ भी कार्यकर्ताओं की नहीं सुनते. देवघर के कार्यकर्ताओं की भी यही पीड़ा छलकी. उन्होंने कहा कि प्रखंड स्तर के अफसर भी नहीं सुनते. 

कार्यकर्ताओं की शिकायत सुन बसंत सोरेन ने तल्ख तेवर में कहा, ''लड़कर हमलोगों ने राज्य लिया है. अपना राज्य है. अपनी सरकार है. अगर थानेदार नहीं सुनता है और आप जूते नहीं चला सकते, तो अफसोस है. बीडीओ- सीओ नहीं सुनते और आप जूते- चप्पल नहीं चला सकते, तो अफसोस है अपना हक अधिकार लेना होगा. आपने अपने बेटे की सरकार चुनी है.हमें विधायक बनाया है. जनता का काम कैसे नहीं होगा.'' 

बाद में सीएम हेमंत सोरेन ने पत्रकारों से कहा, यह पार्टी की आंतरिक बैठक थी. इसमें कुछ शिकायतें आती है, तो विचार किया जाएगा. कहां दिक्कत है. 

उन्होंने यह भी कहा कि कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में कई तरह की बातें होती हैं. लेकिन कहने और करने में फर्क होता है.

 

इसे भी पढ़ें: नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ही असम को भ्रष्टाचार और उग्रवाद मुक्त बना सकती है: अमित शाह


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

भाजपा मेरे फोन कॉल की रिकॉर्डिंग करवा रही है, नहीं छोड़ूंगी: ममता बनर्जी
भाजपा मेरे फोन कॉल की रिकॉर्डिंग करवा रही है, नहीं छोड़ूंगी: ममता बनर्जी
टीकाकरण के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार: सोनिया गांधी
टीकाकरण के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार: सोनिया गांधी
हमारे पास किसी चीज की कोई कमी नहीं, पहले से ज्यादा अनुभव भी हैं- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री
हमारे पास किसी चीज की कोई कमी नहीं, पहले से ज्यादा अनुभव भी हैं- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री
नागपुरी के विद्वान, जाने-माने संस्कृतिकर्मी डॉ गिरिधारी राम गौंझू का निधन, अस्पताल में बेड नहीं मिला
नागपुरी के विद्वान, जाने-माने संस्कृतिकर्मी डॉ गिरिधारी राम गौंझू का निधन, अस्पताल में बेड नहीं मिला
हेमंत सोरेन ने सिरमटोली रांची में सरहुल की पूजा की
हेमंत सोरेन ने सिरमटोली रांची में सरहुल की पूजा की
सरकार का टीका उत्सव बस ढोंग है : राहुल
सरकार का टीका उत्सव बस ढोंग है : राहुल
कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने बाबा मंदिर देवघर में की पूजा, भाजपा सांसद निशिकांत बोले, रासुका लगे
कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने बाबा मंदिर देवघर में की पूजा, भाजपा सांसद निशिकांत बोले, रासुका लगे
सीबीएसई बोर्डः 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं की परीक्षा स्थगित
सीबीएसई बोर्डः 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं की परीक्षा स्थगित
सपा नेता अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव, योगी भी आइसोलेशन में
सपा नेता अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव, योगी भी आइसोलेशन में
रांचीः स्वास्थ्य मंत्री पर नजर पड़ते ही फूट पड़ी युवती-' डॉक्टर झांकने नहीं आए, पापा तड़प- तड़प कर मर गए'
रांचीः स्वास्थ्य मंत्री पर नजर पड़ते ही फूट पड़ी युवती-' डॉक्टर झांकने नहीं आए, पापा तड़प- तड़प कर मर गए'

Stay Connected

Facebook Google twitter