वीडियोः बाबूलाल बोले, बजट में गरीबों, किसानों से धोखा, सुदेश ने कहा, बेरोजगारी भत्ता के नाम पर छले गए युवा

वीडियोः  बाबूलाल बोले, बजट में गरीबों, किसानों से धोखा, सुदेश ने कहा, बेरोजगारी भत्ता के नाम पर छले गए युवा
Publicbol (File Photo)
पीबी ब्यूरो ,   Mar 03, 2020

झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार ने आज विधानसभा में वित्तीय साल 2020-21 के लिए 86 हजार 370 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. साथ ही इसे विकासोन्मुखी बताया है. जबकि बीजेपी में विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने बजट पर तल्ख टिप्पणी करते हुए इसे छलावा और निराशाजनक बताया है. 

उन्होंने कहा कि सरकार कीऋण माफी की घोषणा  भी धोखा है। इसे श्रेणी और दायरों में सीमित करके लाखों किसानों को धोखा दिया गया है.   

मरांडी ने कहा कि यह बजट गांव ,गरीब ,किसान, मज़दूर,युवा बेरोजगार सबको निराश करने वाला है. इस बजट में गरीबी दूर करने की दिशा में कोई प्रयास दिखाई नहीं पड़ता है और न ही मज़दूरी बढ़ाने पर विचार किया गया है. 

सरकार अगर मनरेगा की मजदूरी ही 300 रुपये बढ़ा देती, तो गरीबों की आय मे बड़ी वृद्धि होती. 

उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार ने रघुवर दास सरकार द्वारा चलाई गई कृषि आशीर्वाद योजना, पंप सेट वितरण योजना को बंद करने की घोषणा करके उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है. पारा शिक्षकों को भी वेतनमान की घोषणा नही करने से वे पूरी तरह छला महसूस कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: झारखंड विधानसभा में सरकार का जवाबः स्थानीय नीति में संशोधन का कोई औचित्य नहीं

मरांडी ने कहा कि आधारभूत संरचना पर भी यह सरकार गंभीर नही है. ग्रामीण सड़क, ग्राम सेतु योजना, उच्च पथ निर्माण की दिशा में किए गए प्रावधान भी निराशाजनक है. 

सुदेश बोले छले गए बरोजगार युवा

आजसू विधायक दल के नेता सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि बजट में राज्य सरकार ने बरोजगार युवाओं के साथ धोखा किया है.

स्नातक पास युवाओं को साल में पांच हजार रुपए देने का प्रस्ताव कहीं से जायज प्रतीत नहीं होता. जबकि स्नातकोत्तर के लिए सात हजार रुपए सालाना देना चाहती है. वह भी सरकार दो साल के लिए देना चाहती है. नौकरियों पर सरकार ने बजट में कोई स्पष्ट मंशा जाहिर नहीं की है. 

उन्होंने कहा है कि पांच हजार रुपए साल के इस चादर को बेरोजगार युवा ओढ़ेंगे या बिछाएंगे. यह बजट सत्तारूढ़ दलों के चुनावी घोषणा पत्र से कोई इत्तेफाक नहीं रखता.

इसमें राज्य को आगे ले जाने के लिए कोई विजन नहीं है. इस बजट से जनादेश के अनुरूप जनाकांक्षाओं की पूर्ति होती नहीं दिखती. 

उन्होंने कहा है कि सरकार ने बजट से पहले तरह-तरह का ढिंढोरा पीटा, लेकिन इसमें नीतियां और नीयत कहीं नहीं दिखती. 

उन्होंने कहा कि बिजली के क्षेत्र में आधारभूत संरचना सुदृढ़ करने की दूरदर्शी सोच बजट में नहीं है. 

गरीबों को मिलने वाले प्रधानमंत्री आवास में सरकार अलग से 50 हजार रुपए देना चाहती है. जबकि वादा किया गया था कि पीएम आवास से अच्छा और सुविधायुक्त घर बनाकर सरकार देगी.

पिछली सरकार की कई अहम योजना को बंद कर जो नए काम शुरू करने की घोषणा की गई है वह भी सतही दिखता है और उससे किसान, छात्र, गरीब, युवा, वंचित का भविष्य नहीं संवर सकता.

सिस्टम को दुरूस्त करने और आधारभूत संरचना की मजबूती के लिए कोई फोकस नहीं किया गया है. 

इसे भी पढ़ें: रांचीः लॉ की छात्रा के साथ गैंग रेप के 11 अभियुक्तों को उम्र कैद की सजा, तीन महीने में ही आया फैसला


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था

Stay Connected

Facebook Google twitter