क्या रघुवर का कच्चा चिट्ठा खोलने में मुरव्वत के मूड में नहीं हैं सरयू राय, विधानसभा में बैठी जांच

क्या रघुवर का कच्चा चिट्ठा खोलने में मुरव्वत के मूड में नहीं हैं सरयू राय, विधानसभा में बैठी जांच
पीबी ब्यूरो ,   Mar 19, 2020

पूर्व मंत्री और जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय विधायक सरयू राय पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ मुरव्वत के मूड में नहीं दिखाई पड़ रहे. वे चुन-चुन कर वैसे मामले उठा रहे हैं, जिन पर जांच और कार्रवाई की गुंजाइश है. 

इसी सिलसिले में छत्तीसगढ़ की एक कंपनी को ग्लोबल इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड को पथ निर्माण विभाग द्वारा अलग-अलग अलग-अलग जगहों पर सड़क निर्माण का काम दिए जाने के मामले में बरती गई अनियमितताओं पर जांच बैठाई गई है. 

बुधवार को सरयू राय ने यह सवाल विधानसभा में उठाया था. इसी सवाल पर विधायक प्रदीप यादव, बंधु तिर्की और विनोद सिंह ने पूर्व सरकार की घेराबंदी की. प्रभारी मंत्री संभल कर जवाब दे रहे थे.

उन्होंने यह भी कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार बदले की भावना से काम नहीं करना चाहती. लेकिन उठते सवाल दर सवाल पर मंत्री ने विधानसभा की कमेटी से जांच कराने की घोषणा की. 

सरयू राय ने पथ निर्माण विभाग से संबंधित सवाल में बताया कि हंटरगंज-पांडेपुर-प्रतापपुर पथ के चौड़ीकरण का काम ग्लोबल इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को दिया था जबकि इस कंपनी को 13 जनवरी 2017 को इंडियन कंपनी रजिस्ट्रेशन एक्ट के तहत इस कंपनी को पंजीकृत होने का कार्य अनुभव ही नहीं है.

इसे भी पढ़ें: इंसान को अधिक जिम्मेदार बनने के लिये कह रही है धरती : क्रिकेटर अश्विन

उन्होंने कहा कि इस कंपनी को काम का पर्याप्त अनुभव नहीं था़ इसी कंपनी को मेराल-बाना-अम्बाखोरिया पथ का भी काम मिला था, जिसे अनियमित ठहराते हुए हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया था़ इस कंपनी को पथ निर्माण विभाग में दूसरे काम भी आवंटित हुए थे़.

सरयू राय ने इस कंपनी का जिक्र करते हुए कहा, कंपनी का संबंध एक बहुत ही प्रभावशाली व्यक्ति से है. यह कंपनी सिर्फ पथ निर्माण विभाग में ही नहीं, बल्कि कई अन्य विभागों में भी काम रही है. 

होटल क्लार्क में हुई शादी

कंपनी छत्तीसगढ़ की है. इसी कंपनी का रायपुर में एक शानदार होटल भी है. इसी होटल में उस प्रभावशाली व्यक्ति के बेटे की शादी भी हुई थी. सरयू ने पूरे मामले की एसीबी से जांच की मांग की. हालांकि सरयू राय ने प्रभावशाली व्यक्ति का नाम नहीं बताया. लेकिन पूर्व की सरकार में पथ निर्माण विभाग रघुवर दास के पास ही था. 

जाहिर है यह सवाल रघुवर दास को घेरने के लिए उठाया गया. 

सरयू राय के इस सवाल का जवाब देते हुए प्रभारी मंत्री बादल ने कहा, यह मामला हाईकोर्ट में है. इसलिए फिलहाल हाइकोर्ट का निर्णय आने तक जांच नहीं करायी जा सकती. सरयू राय ने कहा कि कोर्ट ने जांच कराने से नहीं रोका है. तीन लोगों का नेटवर्क है जो एक दूसरे की सलाह लेकर अनियमितता को अंजाम देते रहते हैं. सरयू के समर्थन में विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की भी आये.

विधायक बंधु तिर्की ने कहा ''मेरा भी एक मामला हाईकोर्ट में लंबित था, इसके बावजूद रघुवर सरकार ने एसआईटी बनाकर जांच करायी थी फिर इस माले की जांच क्यों नहीं करायी जा सकती है''.

प्रदीप यादव ने कहा, बिना देरी के इस मामले की जांच की जानी चाहिए क्योंकि जिस प्रभावशाली व्यक्ति का जिक्र हो रहा है वह पूर्व सीएम रघुवर दास हैं.

उन्हें के बेटे की शादी कंपनी के होटल क्लार्क में हुई थी. इसकी जांच की जानी चाहिए. दूसरी तऱफ भारतीय जनता पार्टी के विधायक ने सदन में जोरदार हंगामा किया. भाजपा विधायकों ने कहा, एक सवाल पर इतना समय नहीं दिया जाना चाहिए.

गौरतलब है कि इससे पहले सरयू राय ने पूर्व की सरकार में कौशल विकास कार्यक्रम और रोजगार देने के सवाल पर रघुवर दास के काम पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं.

साथ ही खनन पट्टा और बिजली वितरण निगम के भ्रष्टाचार पर भी वे तथ्यों के साथ सवाल खड़े करते रहे हैं. 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से भारत में तीसरी मौत, दुबई यात्रा पर गया था शख्स


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था

Stay Connected

Facebook Google twitter