रघुवर दास के घर में निकाली पदयात्रा, गूंजे नारे, 86 बस्ती मालिकाना हक देने में वादाखिलाफी क्यों

रघुवर दास के घर में निकाली पदयात्रा, गूंजे नारे, 86 बस्ती मालिकाना हक देने में वादाखिलाफी क्यों
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Oct 02, 2019

गांधी जयंती के मौके पर झारखंड जनतांत्रिक महासभा के बैनर तले आज युवाओं ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के गृह क्षेत्र पूर्वी सिंहभूम में पदयात्रा निकाली. इस पदयात्रा के जरिए 86 बस्ती को मालिकाना हक देने का मामले में सरकार की वादाखिलाफी पर सवाल उठाए गए. युवाओं ने नारे भी लगाए- वादा खिलाफी करना बंद करो, 86 बस्ती मालिकाना हक देना क्यों भूल गए. 

पदयात्रा की शुरुआत पूर्वी जमशेदपुर के गुड़िया मैदान से हुई. इससे पहले महात्मा गांधी और सिद्धो- कानू के चित्र पुर माल्यार्पण किया गया. गुड़िया मैदान से निकली पदयात्रा 86 बस्तियों के बीच से बारीडीह न्यू, बारीडीह-बिरसानगर सात नंबर के बाद छह नंबर फिर 5 नंबर जॉन होते हुए बिरसानगर हाट मैदान पहुंची. यहां बिरसा मुंडा की मूर्ति पर माल्यार्पण करने के बाद सभा की गई. 

बिरसा मुंडा पार्क मैदान में सभा को संबोधित करते हुए कृष्णा लोहार ने कहा कि मालिकाना हक को राजनीतिक मुद्दा बनाकर रघुवर दास पिछले 25 साल से पूर्वी विधानसभा की जनता के साथ वादाखिलाफी करते रहे हैं. मुख्यमंत्री के ही विधानसभा क्षेत्र में झारखंड के एक प्रमुख अस्पताल एमजीएम खुद दम तोड़ रहा है. 

एमजीएम में बच्चों कीं मौत समुचित इलाज और संसाधनों के अभाव में होती रही है. जिले के उप स्वास्थ्य केंद्रों में  डॉक्टर नर्स नियमित नहीं आते हैं. दवाईयां नहीं मिलती हैं. जबकि मुख्यमंत्री पूरे राज्य में घूम-घूम कर विकास का ढिंढोरा पीटने में जुटे हैं.

कृष्णा लोहार ने कहा कि जारखंड जनतांत्रिक महासभा झारखंड में बीजेपी-आजसू की सरकार की कलई खोलने के लिए और जमीनी हकीकत बताने के लिए राज्य के हर विधानसभा क्षेत्र में पदयात्रा करेगी. इसकी शुरुआत कर दी गई है. 

इसे भी पढ़ें: नरेंद्र मोदी ने की घोषणा, खुले में शौच से मुक्त हुआ भारत

पद यात्रा में मुख्य रूप से बलराम कर्मकार, लक्ष्मी पूर्ति, सुनील हेंब्रोम, दीपक रंजीत, सुशीला लोहार, लक्ष्मी लोहार, कविता कर्मकार, हरिपदो सिंह, रायमूल, सोमनाथ पड़िया, विरेंद्र कुमार, ललन प्रसाद, राजा कालिंदी, अंकुर महतो, अनिल कर्मकार आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे.

राजनीति चमकाई 

सुनील हेंब्रम ने कहा कि तीन दशकों से जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र के 86 बस्तियों के मालिकाना हक यहां के जनता की प्रमुख मांग रही है. सुनील हेंब्रम ने आरोप लगाया कि टाटा लीज के अंदर रहते हुए कंपनी विस्तार का भय और दहशत के माहौल में जी रहे 86 बस्ती के लोगों को सालों से धोखा ही मिलता रहा है.

जबकि 86 बस्ती के लोगों ने हर चुनाव में मालिकाना हक का मुद्दा उठाते रहे हैं. यहां की जनता ने पिछले 25 वर्षों से एक ही दल और एक ही प्रत्याशी को 5 बार क्षेत्र का विधायक चुना, लेकिन उन्हें मालिकाना हक नहीं मिला. वादे करके रघुवर दास भूलते रहे. जबकि वे मंत्री से मुख्यमंत्री बने. अब मुख्यमंत्री मालिकाना हक के बजाय लीज देने की बात कर रहे हैं.  

सुनील हेंब्रम ने कहा कि अब सरकार प्रधानमंत्री आवास के नाम पर इस इलाके में बसे घर-परिवार को उजाड़ने की कोशिशें हो रही है. और जो लोग अपना जायज मांग मालिकाना हक की मांग कर रहे हैं उन्हें सरकारी काम में बाधा डालने का झूठा केस बनाकर जेल भेजने की धमकी दी जा रही है. 

रोजगार का संकट  

दीपक रंजीत ने कहा है कि ऑटोमोबाइल सेक्टर और स्टील उद्योग में डिमांड के कमी के कारण जमशेदपुर एवं इसके आसपास कई कंपनियां बंद हो गई हैं. जाहिर है लोग बेरोजगार हो रहे हैं. नया रोजगार और रोजी-रोटी का कोई विकल्प नहीं है. दुख की यह है कि बेरोजगारी से हताश युवा खुदकुशी कर रहे हैं.

जमशेदपुर की एक बड़ी आबादी जो मूलवासी- आदिवासी है ठेकेदारी प्रथा के तहत काम करने को विवश हैं. झारखंड में बाहर के लोगों के लिए नौकरियों की राह खोल दी गई है. पूर्वी जमशेदपुर में ही ब्लूस्कोप, टाटा रायसन बना लेकिन नौकरी झारखंडियों को नहीं मिली. जिन लोगों को नौकरी मिली वे सत्ता के संरक्षण में रहे हैं.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, पार्टी स्तब्ध
कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, पार्टी स्तब्ध
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन की मौत
फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन की मौत
मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे
मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे
कितना भी मैं किसी का विरोध करूं, भाषा की मर्यादा कभी नहीं तोड़ताः सचिन
कितना भी मैं किसी का विरोध करूं, भाषा की मर्यादा कभी नहीं तोड़ताः सचिन
रांची के निकट ओरमांझी में ट्रक पर जा रहे 35 लाख रुपए की अफीम और डोडा बरामद
रांची के निकट ओरमांझी में ट्रक पर जा रहे 35 लाख रुपए की अफीम और डोडा बरामद
दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगाः पीएम मोदी
दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगाः पीएम मोदी
राजस्थानः कांग्रेस में बंवडर थमने की उम्मीद, सचिन की बात सुनने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी
राजस्थानः कांग्रेस में बंवडर थमने की उम्मीद, सचिन की बात सुनने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी
झारखंड में बेरोजगारी बड़ी चुनौती, हम इससे निपटेंगेः हेमंत सोरेन
झारखंड में बेरोजगारी बड़ी चुनौती, हम इससे निपटेंगेः हेमंत सोरेन

Stay Connected

Facebook Google twitter